Latest News

बुधवार, 27 मई 2015

मुंबई - मुस्लिम होने की वजह से युवती को फ्लैट से निकाला

मुंबई 27 मई 2015. पिछले साढ़े पांच सालों से मुंबई में रह रहीं मिस्बाह कादरी ने आरोप लगाया है कि मुस्लिम होने की वजह से उन्हें वडाला इलाके में किराये के फ्लैट से निकाल दिया गया। उन्होंने कहा कि जब से मैं मुंबई आई हूं यहां मेरे साथ लगातार भेदभाव हो रहा है। उन्होंने राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) से इसकी शिकायत करने का फैसला किया है।
बताते चलें कि इससे पहले मुंबई में एक डायमंड एक्सपोर्ट कंपनी द्वारा एक मुस्लिम युवक जीशान अली के आवेदन को यह कहते हुए खारिज कर दिया गया था कि कंपनी केवल गैर-मुस्लिमों को नौकरी पर रखती है। मीडिया से बात करते हुए 25 वर्षीय मिस्बाह कादरी ने बताया कि मैं वडाला ईस्ट की सांघवी हाइट्स सोसायटी के तीन बेडरूम वाले फ्लैट एक सप्ताह पहले ही शिफ्ट हुई थी। इस फ्लैट में दो हिन्दू युवतियां पहले से रह रही थीं और इन लोगों का संपर्क फेसबुक के जरिए हुआ था। इसके बाद मिस्बाह कादरी ने भी उनके साथ शिफ्ट होने का फैसला किया था। इस फ्लैट में शिफ्ट होने से एक दिन पहले ही अपार्टमेंट के ब्रोकर ने उन्हें चेताया था कि इस हाउसिंग सोसायटी में मुस्लिमों को किराये पर घर नहीं दिया जाता है। काफी जद्दोजहद के बाद ब्रोकर ने मिस्बाह कादरी को बताया कि उन्हें एनओसी पर साइन करना होगा, जिसमें लिखा होगा कि उनके धर्म की वजह से पड़ोसी उनके साथ किसी तरह का भेदभाव करते हैं तो फ्लैट का मालिक, बिल्डर और ब्रोकर कानूनी रूप से जिम्मेदार नहीं होगा। 

(IMNB)

Special News

Health News

Advertisement


Created By :- KT Vision