Latest News

बुधवार, 5 दिसंबर 2018

नोडल अधिकारी संजीव कुमार की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई समीक्षा बैठक

बहराइच 05 दिसम्बर 2018 (ब्यूरो). केन्द्र सरकार की ओर से जनपद के लिए नामित नोडल अधिकारी अपर सचिव, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय भारत सरकार संजीव कुमार आईएएस ने कलेक्ट्रेट सभागार में जिले के अधिकारियों के साथ आयोजित बैठक में नीति आयोग द्वारा आकांक्षात्मक जनपदों के लिए निर्धारित प्रमुख सूचकांकों शिक्षा, स्वासथ्य एवं पोषण, वित्तीय समायोजन, कौशल विकास, इन्फ्रास्ट्रक्चर एवं कृषि सेक्टर आदि की समीक्षा के दौरान पाया कि शिक्षा, स्वास्थ्य एवं पोषण, इन्फ्रास्ट्रक्चर एवं कृषि सेक्टर में उल्लेखनीय सुधार आया है जिसके लिए जिलाधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी सहित उनकी पूरी टीम को बधाई दी। 


उन्होंने कहा कि कुछ सेक्टरों में सुधार के लिए और प्रयास किये जाने की आवश्यकता है। अपर सचिव ने निर्देश दिया कि शिक्षा, स्वास्थ्य, पोषण, कृषि इत्यादि सेक्टरों में किये गये अभिनव प्रयोग की सक्सेस स्टोरी भी तैयार की जाये। उन्होंने निर्देश दिया कि केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा संचालित जनकल्याणकारी योजनाओं और कार्यक्रमों को समाज के अन्तिम पायदान पर खड़े व्यक्ति को ध्यान में रखकर क्रियान्वित करें। उन्होंने टीकाकरण जैसे महत्वपूर्ण कार्यक्रम के प्रति जनजागरूकता के लिए प्रभावी कार्ययोजना तैयार किये जाने पर विशेष बल दिया। उन्होंने कहा कि विकासपरक योजनाओं एवं जनकल्याणकारी कार्यक्रमों का क्रियान्वयन कराते समय गुणवत्ता को शीर्ष प्राथमिकता प्रदान की जाय। शिक्षा के क्षेत्र में गुणात्मक सुधार लाये जाने के उद्देश्य से नोडल अधिकारी ने निर्देश दिया कि बच्चों को उनकी आयु और कक्षा के अनुसार स्वास्थ्य, पोषण व स्वच्छता के बारे में जानकारी प्रदान की जाय। उन्होंने यह भी कहा कि ड्राप आउट बच्चों का दाखिला पुनः स्कूलों में कराये जाने के प्रयास किये जायें। 

इस सम्बन्ध में जिलाधिकारी माला श्रीवास्तव ने जानकारी दी कि विद्यालयों में शिक्षकों की उपस्थिति सुनिश्चित कराते हुए बच्चों में शिक्षा के प्रति रूचि पैदा करने के उद्देश्य से बाल सभा, बाल मेला तथा विद्यादान जैसे कार्यक्रम संचालित किये जा रहे हैं। कायाकल्प योजना के तहत ग्राम पंचायत की निधि से विद्यालयों को आकर्षक बनाये जाने का भी प्रयास किया जा रहा है। निर्माण परियोजनाओं की समीक्षा के दौरान कुमार ने निर्देश दिया कि राजकीय मेडिकल कालेज, ट्रामा सेन्टर सहित अन्य ऐसे भवन निर्माण परियोजनाओं के दौरान यह भी सुनिश्चित किया जाय कि भवन के साथ-साथ भवनों को एक्टिवेट करने के लिए आवश्यक उपकरणों एवं मानव संसाधन की व्यवस्था का प्रयास भी साथ-ही-साथ करें। उन्होंने कहा कि उपकरणों की उपलब्धता हो जाने से भवन बनते ही लोगों के काम आ सकेंगे। नोडल अधिकारी ने निर्देश दिया कि ग्राम स्वास्थ्य पोषण दिवस का आयोजन प्रभावी ढंग से किया जाय और इस अवसर पर क्षय रोगियों की भी पहचान की जाय। 

कृषि सेक्टर की समीक्षा करते हुए श्री कुमार ने निर्देश दिया कि मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना का व्यापक प्रचार-प्रसार कर किसानों को मृदा जाॅच से होने वाले लाभों की जानकारी दी जाय। नोडल अधिकारी उप निदेशक कृषि को यह भी निर्देश दिया कि मृदा स्वास्थ्य कार्ड के सम्बन्ध में किसानों से फीड बैक भी प्राप्त किया जाय। उन्होंने किसान पाठशाला का आयोजन भी मानक के अनुसार कराये जाने का निर्देश दिया। बैठक के अन्त में नोडल अधिकारी ने ग्राम स्वराज अभियान तथा क्षय रोग नियंत्रण कार्यक्रम की भी समीक्षा की तथा सम्बन्धित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये। इस अवसर पर जिलाधिकारी माला श्रीवास्तव, मुख्य विकास अधिकारी राहुल पाण्डेय, संयुक्त निदेशक नियोजन उत्तर प्रदेश डा. सत्यवीर सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी डा. एके पाण्डेय, बीडीओ कैसरगंज प्रशिक्षु आईएएस प्रभाष कुमार, जिला विकास अधिकारी वीरेन्द्र सिंह, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डा. डी.के. सिंह व डा. मधु गैरोला, उपायुक्त मनरेगा शेषमणि सिंह व एनआरएलएम सुरेन्द्र कुमार गुप्ता, लीड बैंक प्रबन्धक बलराम साहू सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे। 



Advertisement

Political News

Crime News

Kanpur News


Created By :- KT Vision