Latest News

सोमवार, 31 जुलाई 2017

सावधान - त्योहार नजदीक आते ही मिलावटी मिठाई व मावा ने बाज़ार में दे दी है दस्तक

अल्हागंज 31 जुलाई 2017. त्योहार नजदीक आते ही मिलावटी खाद्य पदार्थ बनाने वाले लोग सक्रिय हो गए हैं। जिला प्रशासन व खाद्य विभाग के अधिकारी देहात क्षेत्र में मिलावटी खाद्य पदार्थ की पहचान के लिए न तो कोई अभियान चला रहे हैं, न ही कोई छापेमारी कर रहे हैं। इससे मिलावटखोरों का हौसला बुलंद है। 


बीते कुछ दिन पूर्व नगर व  क्षेत्र में मिलावटी मावे व दूध की खेप पकड़ कर जिला प्रशासन के अधिकारियों  ने मिलावटखोंरों के मंसूबों पर पानी फेर दिया था, लेकिन इस वर्ष विभाग उदासीन रवैया अपना रहा है। सावन,रक्षाबंधन आदि त्यौहार के समय दूध व मावे की मांग काफी बढ़ जाती है। मांग और उत्पादन के अंतर को कम करने के लिए ग्रामीण क्षेत्र व नगर में सिंथेटिक दूध से तैयार किया गया मावा बाजार में प्रशासन की नजरों में धूल झोंक कर उतार दिया जाता है। इसके सेवन से लोगों के सेहत पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। इस वर्ष मिलावटखोंरो के खिलाफ प्रशासन ने कोई अभियान शुरू नहीं किया है।

त्योहारों के मौसम में मिठाई का कारोबार काफी बढ़ जाता है। हलवाई कई दिनों पूर्व से मिठाई बनाने के काम में जुट जाते हैं। नगर का हर नुक्कड़ ,  बाज़ार,  बस स्टैंड, बाईपास, हुल्लापुर, चौरासी, कोयला  आदि स्थानों पर मिठाई का कारोबार खूब होता है। इन स्थानों पर छापेमारी करने में जिला प्रशासन की टीम कदम पीछे खींच लेती है। आरोप है कि इसके पीछे बडा कारण घूसखोरी है।

देहात क्षेत्र के साहयबगंज, हुल्लापुर, चौरसिया, ठिंगरी, कोयला आदि क्षेत्रों में भारी मात्रा में मावा तैयार किया जाता है। असली मावा बनाने की आड़ में कुछ लोग नकली मावा बनाकर बाजार में आपूर्ति करते हैं। यहां से थोक के भाव में मावा आसपास के बाजार में भेजा जाता है।

Special News

Health News

Advertisement

Advertisement

Advertisement


Created By :- KT Vision