Latest News

बुधवार, 6 जुलाई 2016

छत्तीसगढ़ - डीप सर्वेक्षण को MICL से हुआ करार, सर्वे रिपोर्ट के आधार पर होगी चार खदानों की नीलामी

छत्तीसगढ़ 06 जुलाई 2016 (छत्तीसगढ़ ब्यूरो). छत्तीसगढ़ में चार खदानों का गहराई से सर्वेक्षण करने के लिए छत्तीसगढ़ के माइनिंग विभाग और खान मंत्रालय भारत सरकार के सार्वजनिक उपक्रम 'माइनिंग एक्सप्लोरेशन कार्पोरेशन लिमिटेड' (एमईसीएल) के बीच मंगलवार को एमओयू पर हस्ताक्षर किया गया। इसके साथ ही राजधानी में आयोजित दो दिवसीय 'नेशनल कॉन्क्लेव ऑफ माइंस' का भी समापन हो गया।

छत्तीसगढ़ प्रदेश में राज्य सरकार ने आधुनिक टेक्नोलॉजी के उपयोग से सर्वेक्षण का करार पहली बार किया गया है। संभावना जताई गई है इससे खदानों की नीलामी में माइनिंग विभाग को अधिक लाभ होगा। क्योंकि इससे पहले तक सर्वे ऊपरी दो परत तक ही किया जाता था, नीचे की परतों में दबी खनिज संपदा की भंडारण मात्रा, अनुमान के आधार पर ही तय की जाती थी जिससे खादानों से निकलने वाली खनिज संपदा की मात्रा का आंकलन सही नहीं हो पाता था। इससे खदानों की नीलामी में माईनिंग विभाग को घाटा लगता रहा है। अधिकांशतः भंडारण मात्रा अधिक होती तथा ग्रेड भी उच्च निकलता जिसका लाभ खदानों को लीज पर लेने वाले कारोबारियों को ही प्राप्त होता था। 

नीलामी के बाद भंडारण मात्रा या ग्रेड पर आपत्ति या अनापत्ति नहीं की जा सकती है, नीलामी प्रक्रिया के अनुबंध के अनुसार, माईनिंग विभाग को हस्तक्षेप करने का अधिकार नहीं होता है। इससे माईनिंग विभाग को करोड़ों का घाटा लगता है। एमईसीएल, बलौदाबाजार क्षेत्र में दो खदानों का गहराई से सर्वे कर वहां मौजूद सीमेंट ग्रेड के लाइम स्टोन की मात्रा का पता लगाएगी। इसी तरह सरगुजा क्षेत्र की दो खदानों में बॉक्साइट की मात्रा का पता करेगी। सर्वे करने के बाद कंपनी विस्तार से डाटा और रिपोर्ट तैयार कर खनिज विभाग को देगी। इस रिपोर्ट के आधार पर खदानों की नीलामी होगी।
 
छत्तीसगढ़ खनिज विभाग के सचिव सुबोध सिंह ने बताया कि नेशनल मिनरल एक्सप्लोरेशन ट्रस्ट की ओर से चार प्रोजेक्ट्स को मंजूरी मिली थी। यह उपक्रम चार खदानों का सर्वे कर उसका डाटा तैयार करके राज्य सरकार को सौंपेगा। कंपनी को इस काम का लंबा अनुभव है। 1972 में रजिस्टर्ड हुई यह कंपनी उच्च क्वालिटी के समयबद्ध जियो साइंटिफिक सर्वे करती है। अब तक यह देश भर में 1321 प्रोजेक्ट्स के लिए 15 लाख 43 हजार 080 लाख टन खनिज और अयस्कों की खोज कर चुकी है। भारत की खदानों में कोल, लिग्नाइट, बॉक्साइट, सोना, तांबा, जिंक, मैग्नीज, मैग्नेसाइट जैसे मिनरल्स की खोज कंपनी कर चुकी है।

Special News

Health News

Advertisement


Political News

Crime News

Kanpur News


Created By :- KT Vision