Latest News

शनिवार, 27 फ़रवरी 2016

शाहजहाँपुर - जलालाबाद में दर्जा प्राप्‍त राज्य मंत्री के हस्तक्षेप पर लूट की रिपोर्ट दर्ज

शाहजहाँपुर 27 फरवरी 2016. गुरूवार की शाम के करीब 8 बजे क्षेत्र के इस्लामगंज निवासी गल्ला व्यापारी सुनील कश्यप से हुई साढ़े नौ लाख रूपये की लूट का अभी तक खुलासा नहीं हो सका है वहीं दूसरी तरफ सुनील ने जलालाबाद पुलिस पर पिटाई करने का आरोप लगाया है। अंग्रेजी जमाने की पुलिस अभी भी पुराने पैटर्न पर चल रही है यानि कि तिल का ताड़ बनाने तथा घटना पर पर्दा डालने के पुराने स्टाइल पर कायम है।


शुक्रवार की घटना को ही ले लीजिये जिसमें अल्हागंज क्षेत्र के इस्लामगंज निवासी गल्ला व्यापारी रामनिवास कश्यप का पुत्र सुनील कश्यप फरीदपुर (बरेली) से एक फर्म से साढ़े नौ लाख रूपये का कैश ला रहा था।जलालाबाद तिराहे से एक बोलेरो ने उसका पीछा कर गोरा ठिंगरी गाँव के बीच ओवरटेक करते हुए असलहा से उसके वाहन के चालक को टारगेट करके फायर कर वाहन को रोकने पर विवश किया। फायर चालक लंकुश के न लगकर वाहन के बोनट पर लगता है और भय वश सुनील कैश बैग वाहन में ही छोड़कर वाहन से कूद कर भागता है, तब मुंह पर कपड़ा लपेटे बदमाश उस पर भी दो फायर करते हैं। इसीबीच दूसरी बोलेरो भी वहां आकर रूकती है उस पर भी मुंह बांधे सशक्त बदमाश थे किसी प्रकार सुनील अपनी जान बदमाशों से बचा पाने में सफल हो जाता है लेकिन कैश बैग बचा पाने में नाकामयाब हो जाता है जिसमें साढ़े नौ लाख रूपये थे।

इसके बाद शुरू होती है पुलिसिया कार्यवाही इसमें घटना को संदिग्ध बता कर जलालाबाद सीओ के साथ चल रहे पुलिस वाले सुनील की पिटाई करते हैं, सुनील बताते हैं कि जब फरीदपुर की फर्म कंफर्म कर देती है कि कैश उसके यहाँ से गया था तब उसको तथा वाहन चालक लंकुश को पुलिस की पिटाई से मुक्ति मिल पाती है।चालक लंकुश के सर में बदमाशों ने असलहे की बट से घायल कर दिया था घटना स्थल से पुलिस ने कारतूस का खोखा भी बरामद किया है इसके अलावा घटना से सम्बंधित कोई भी क्लू नहीं मिला है।पुलिस ने घटना की रिपोर्ट दर्ज करने में भी आनाकानी की थी यहाँ तक की दो जनप्रतिनिधियों की सिफारिश को भी अनसुना कर दिया था लेकिन जब दर्जा प्राप्‍त राज्य मंत्री राजपाल कश्यप ने सत्ता की धमक दिखलाई तब घटना की रिपोर्ट दर्ज हुई।

यह है अंग्रेजी जमाने की पुलिस का चेहरा, घटना की जांच अल्हागंज एस ओ धर्मेन्द्र कुमार कर रहे हैं।फोर्स की कमी के चलते बदमाशों की खोजबीन प्रभावित हो रही है घायल लंकुश को मेडिकल के लिए भेज दिया गया है पुलिस की पिटाई के दौरान सुनील को कान में अंदरुनी चोट आई है लेकिन उसका मेडिकल नहीं कराया गया है।अब सवाल उठता है कि जब घटना को लेकर पुलिस की सोच में ही खोट है तब उसका खुलासा कैसे और कब होगा।

Special News

Health News

Advertisement


Political News

Crime News

Kanpur News


Created By :- KT Vision