Latest News

बुधवार, 15 अप्रैल 2015

बनारस में मोदी के भरोसेमंद लोगों ने संभाली कमान

गांधीनगर । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भरोसेमंद सिपहसालारों को अपने लोकसभा क्षेत्र वाराणसी में वहां के लोगों का दिल जीतने की खातिर भेज रहे हैं। बनारस के मशहूर गंगा घाटों को साफ करने के लिए अब नवसारी से लोकसभा सांसद सी आर पाटिल को लगाया गया है, जो खासतौर पर गुजरात से इन कोशिशों को कोऑर्डिनेट करेंगे। पहले ही उनके करीबी सहयोगी सुधांशु मेहता तीन मॉर्चुरी बोट्स शहर के लिए डोनेट कर चुके हैं। लोकप्रिय गुजराती कथाकार मोरारजी बापू और वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बोट्स बनारस के लोगों को 28 मार्च को समर्पित किया।
जल्द ही और बोट्स भी भेजी जाएंगी। पाटिल ने बताया कि वह मणिकर्णिका और हरिश्चंद्र घाट पर काम कर चुके हैं। पाटिल ने कहा, 'कई और लोग हैं, जो अन्य घाटों पर भी काम कर रहे हैं। मैं ऐसा प्रचार के लिए नहीं कर रहा हूं, लेकिन इसके पीछे एक मकसद है।' नरेंद्र मोदी के निर्देशों को लागू करने वाले एक मुख्य शख्स पाटिल ने बताया कि कोलकाता के उद्योगपति सुरेश अग्रवाल और उनका रूपा फाउंडेशन भी बनारस के घाटों को विकसित करने में शामिल है। प्रधानमंत्री के सबसे प्रभावशाली रणनीतिकारों में से एक पाटिल ने मोदी के विवादित पिन-स्ट्राइप्ड सूट की रिकॉर्ड नीलामी करवाने में अहम भूमिका निभाई थी। इस सूट की नीलामी फरवरी में सूरत में हुई थी। सूत्रों का यह भी कहना है कि वह पाटिल ही थे, जिन्होंने जून 2010 में बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के दौरान पटना में न्यूजपेपर्स के फ्रंट पेज पर विज्ञापन छपाए थे, जिसमें मोदी और नीतीश कुमार दोनों को एकसाथ दिखाया गया था और जिसकी वजह से नीतीश ने बीजेपी के आला नेताओं के लिए डिनर को कैंसल कर दिया था। पार्टी के अंदरूनी सूत्र बताते हैं कि पाटिल प्रधानमंत्री के निर्देशों के मुताबिक बनारस में प्रॉजेक्ट्स में जुड़े हुए हैं। बीजेपी के एक सीनियर अधिकारी ने माना कि बनारस में जमीन पर काम कर रहे बीजेपी कार्यकर्ता घाटों को खूबसूरत बनाने को लेकर ज्यादा उत्साहित नहीं थे, जिसे देखते हुए पाटिल को यह अहम जिम्मेदारी सौंपी गई है। पाटिल ने कहा, 'निश्चित तौर पर इस तरह से प्लान पर काम हो रहा है, ताकि हवा और जल प्रदूषण कम किया जा सके।' पाटिल ने कहा कि दाह संस्कार में इस्तेमाल पानी को री-साइकल करने के बाद ही उसे नदी में छोड़ने के बारे में योजना तैयार हो चुकी है। पाटिल ने कहा, 'मैं जयापुर भी कई बार गया हूं और वहां भी विकास का काम चल रहा है।' जयापुर गांव को प्रधानमंत्री ने गोद लिया है। बनारस से ईटी से बात करते हुए सीनियर बीजेपी लीडर लक्ष्मण आचार्य ने कहा कि हालांकि, प्राइम मिनिस्टर काे बनारस को साफ-स्वच्छ बनाने का मिशन पूरे देश में लोकप्रिय हो चुका है, लेकिन खासतौर पर गुजरात से लोग यहां आ रहे हैं ताकि इस मिशन पर काम कर सकें।


(IMNB)

Special News

Health News

Advertisement


Political News

Crime News

Kanpur News


Created By :- KT Vision