Latest News

सोमवार, 23 मार्च 2015

महिला बैचमेट को परेशान कर रहे थे आईएएस डी.के. रवि ?

बेंगलुरु। अपने फ्लैट में मृत पाए गए आईएएस ऑफिसर डी.के. रवि की बैचमेट रही एक महिला का कहना है कि वह उन्हें 'परेशान' कर रहे थे । मौत से पहले डी.के. रवि ने आखिरी बार इनके नंबर पर ही फोन किया था। इस बीच राज्य सरकार ने मामले की जांच सीबीआई को सौंपने का फैसला किया है।
डी.के. रवि की लाश मिलने के 4 घंटे बाद उनकी 2009 की बैचमेट ने डीसीपी डॉक्टर रोहिणी एस. कटोच को फोन किया था। बैचमेट ने स्वीकार किया था कि वे दोनों लगातार संपर्क में थे। कॉल रेकॉर्ड्स से भी इस बात की पुष्टि होती है कि उनके बीच लंबी बातें होती थीं। बातों का सिलसिला देर रात तक जारी रहता था। रेकॉर्ड्स के मुताबिक मौत से ठीक पहले रवि ने एक नंबर पर 16 सेकंड्स के लिए बात की थी। यह नंबर उसी बैचमेट का था। उस दिन रवि ने इस नंबर पर 44 बार कॉल की थी। शाम को रवि साउथ बेंगलुरु में अपने फ्लैट में मृत पाए गए थे। कॉल रेकॉर्ड से यह भी पता चलता है कि दोनों ने पिछले दिन भी 8 बार फोन किया था और 30 मिनट तक बात की थी। आईएएस बैचमेट ने पुलिस ऑफिसर को बताया कि रवि उसके 'पीछे पड़' गए थे। महिला आईएएस का कहना कि वह लगातार रवि की 'मांगों' को नजरअंदाज कर रही थीं। सीआईडी ने यह बयान दर्ज कर लिया है। राज्य सरकार ने अब इस मामले की जांच सीबीआई को सौंपने का फैसला किया है। कर्नाटक के मुख्यमंत्री ने कैबिनेट से चर्चा के बाद यह फैसला लिया है। पिछले कई दिनों से मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग की जा रही थी।

(IMNB)

Special News

Health News

Advertisement


Created By :- KT Vision