Latest News

सोमवार, 11 फ़रवरी 2019

जानलेवा हमले के चार दिन बाद भी एफआईआर नहीं


कानपुर 11 फरवरी 2019 (विकास श्रीवास्तव). बजरिया थाना क्षेत्र के राम बाग इलाके में एक बिल्डर के शह पर दो सगे भाइयों ने पड़ोसी युवक पर फायर कर दिया, किस्मत से युवक बाल - बाल बचा गया। युवक ने स्‍थानीय थाने में बिल्डर समेत तीनों लोगों पर जानलेवा हमले की तहरीर दी लेकिन बिल्डर के रसूख के चलते पुलिस एफआईआर नहीं लिख रही है और उल्टा पीड़ित पर समझौते का दबाव बना रही है।


तहरीर के मुताबिक रामबाग स्थित अपार्टमेंट के दूसरी मंजिल में प्राइवेट कर्मी आशीष अरोरा अपने परिवार के साथ रहते हैं। अपार्टमेंट के बाईं ओर आलोक वर्मा और अनुज वर्मा दोनों (सगे भाई) भी रहते है। अपार्टमेंट के बिल्डर प्रमोद पांडे गैरकानूनी तरीके से अपार्टमेंट की तीसरी मंजिल छत आलोक को बेच रहे हैं, जिस पर आलोक अवैध चौथी मंजिल बनाना चाहता है। सूत्रों के अनुसार चौथी मंजिल अवैध होने के साथ आशीष का बेस कमजोर कर रही है, इसी कारण आशीष बिक्री का विरोध कर रहा है। बीते 6 फरवरी की रात आलोक वर्मा आशीष को घर के नीचे बुला कर धमकाने लगा। आशीष के विरोध करने पर आलोक वर्मा ने अपनी बंदूक से उस पर फायर कर दिया, लेकिन आशीष बच गया। आरोप है कि मामले के चार दिन बाद भी बजरिया पुलिस मुकदमा नहीं लिख रही है, उल्टा पीड़ित पर समझौता कर लेने का दबाव बना रही है।


Video News

Political News

Crime News

Kanpur News


Created By :- KT Vision