Latest News

मंगलवार, 5 जून 2018

सरकार ने अटकाये राह में रोडे, पत्रकारों ने विरोध में बेचे पकोड़े

कानपुर 05 जून 2018 (महेश प्रताप सिंह). सीएम योगी आद‍ित्‍यनाथ के कानपुर आगमन पर कवरेज हेतु केवल 41 मीडिया कर्मियों के लिये ही कवरेज पास बनाये जाने को लेकर कानपुर के पत्रकारों में बीजेपी सरकार और जिला सूचना विभाग के प्रति आक्रोश व्याप्त है। जिसके चलते आज पत्रकारों ने पकोड़े बेचकर अपना विरोध प्रकट किया।


जानकारी के अनुसार कानपुर में अाज आयोजित मुख्यमंत्री के कार्यक्रम की कवरेज हेतु जिला सूचना कार्यालय द्वारा मात्र 41 पत्रकारों को ही अधिकृत किया गया था। जिस पर विरोध जताते हुए ऑल इंडियन रिपोर्टर्स एसोसिएशन (आईरा) के पत्रकारों ने सरकार और जिला सूचना विभाग पर पत्रकारों से भेदभाव करने और बेरोजगार बना देने का आरोप लगाया और "पत्रकार पकोड़ा भंडार" नाम से ठेले लगा कर अपना विरोध प्रकट किया।

आईरा के जिला महासचिव द‍िग्विजय सिंह ने सरकार की नीतियों पर सवाल उठाते हुये कहा कि आज CM के कानपुर दौरे को लेकर जिला सूचना कार्यालय ने केवल 41 मीडियाकर्मियों के पास बनाये। 

मेरा सवाल ये है कि बाकी मीडियाकर्मी कार्यक्रम की कवरेज कैसे करेंगे, और कवरेज नहीं करेंगे तो क्या पकौड़े बेचेंगे ?? पास वितरण में खुलेआम मानकों का उल्लंघन किया गया है - दिग्विजय सिंह (जिला महासचिव - आईरा)

श्री सिंह ने ये भी आरोप लगाया कि चहेतों को पास और बाकियों को बाईपास, ये कानपुर जिला सूचना विभाग की पुरानी नीति है। क्या इतने बड़े कानपुर जिले में केवल 41 मीडिया कर्मी हैं ? और बाकी क्या हैं ? फ़र्ज़ी पत्रकार?? उन्‍होंने कहा कि BJP सरकार कर्मचारियों से काम लेने और उन की मनमर्ज़ी पर लगाम लगा कर रखने में पूरी तरह नाकाम रही है। ऐसा ही  होता रहा तो 2019 में लोकसभा चुनाव की राह बेहद मुश्किल होने वाली है।


मौके पर मौजूद पत्रकारों ने कहा कि हम CM से मांग करते हैं कि 41 चहेतों को छोड़ कर बाकी मीडिया कर्मियों को पकोड़ा बेचने का ठेला लगाने हेतु लोन दिया जाए, जिससे हम लोग अपना व्यवसाय बदल सकें। क्योंकि CM साहब के अधिकारियों ने घोषणा कर दी है कि कानपुर में केवल 41 पत्रकार हैं और बाकी सब बेकार हैं। इस कारण हम बेकार लोग अब पकौड़े बेचेंगे और हमारे स्टाल का नाम होगा "पत्रकार पकौड़ा भंडार".




Advertisement

Political News

Crime News

Kanpur News


Created By :- KT Vision