Latest News

रविवार, 1 अक्तूबर 2017

धार्मिक होर्डिंग फाड़े जाने के बाद आमने सामने आये दो समुदाय

कानपुर 01 अक्‍टूबर 2017 (सूरज वर्मा एवं विशाल तिवारी). रविवार को अतिसंवेदनशील रावतपुर गांव में धार्मिक होर्डिंग फाडे जाने के बाद दो समुदाय आमने सामने आ गए। दोनों पक्षों में जमकर पथराव हुआ, क्षेत्रीय लोगों की सूचना पर डीएम, डीआईजी समेत कई थानों से भारी पुलिस फ़ोर्स पहुंच गया और रामलला स्कूल के अंदर घुसकर पुलिस ने जमकर लाठियां भांजी।

जानकारी के मुताबिक शनिवार को देर रात रावतपुर गांव में हुई दो पक्षों में झड़प के बाद से तनाव चल रहा था, रविवार को दोनों पक्ष फिर आमने सामने आ गए जिसके बाद जमकर पथराव किया गया। आपको बता दें कि शनिवार को दशहरा के अवसर पर रामलला की झांकी निकल रही थी, वहीं गली में लगे हुए ताजिये की झंडिया किसी तरह से टूट कर उखड़ गयीं। जिसके बाद एक समुदाय के लोगों ने साउंड सिस्टम पटक दिए और दोनों पक्षों में विवाद शुरू हो गया। तनाव बढ़ता देख मौके पर पहुंची पुलिस ने माहौल को शान्त करवाया।

रविवार को फिर उसी मामले में तनाव के चलते दोनों पक्ष फिर आमने सामने आ गए। घटना के मूल में अराजक तत्वों द्वारा धार्मिक पोस्टर फाड़ने की बात सामने आ रही है। जिसके बाद आज दूसरे समुदाय के लोगों ने रोड ब्लॉक कर दिया। आज मुहर्रम के अवसर पर ताजिया निकल रहा था, रोड ब्लॉक की जानकारी से नाराज़ दूसरे पक्ष के लोगों ने जमकर पथराव कर दिया। जिसके बाद दोनों तरफ से जबरदस्त जवाबी पथराव किया गया, जिसमें आधा दर्जन लोग घायल हो गए। सामुदायिक विवाद की सूचना पर डीएम, डीआईजी समेत कई थानों का फ़ोर्स मौके पर पहुंच गया। प्रत्‍यक्षदर्शियों के अनुसार पथराव कर रहे लोगों को पहले समझाया गया लेकिन उनके नहीं मानने पर रामलला मन्दिर में घुस कर पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। इस लाठीचार्ज में आधा दर्जन लोग घायल हो गए, वहीं कुछ लोगों को पुलिस ने पकड़ भी लिया है। कानपुर की डीआईजी सोनिया सिंह ने बताया कि लाठीचार्ज नहीं हुआ है और माहौल फिलहाल शांत हो गया है।

 


Special News

Health News

International


Created By :- KT Vision