Latest News

शुक्रवार, 14 अप्रैल 2017

जल के अभाव से संकट में है ग्रामीणों का जीवन

अल्हागंज 13 अप्रैल 2017(अमित बाजपेयी). जल ही जीवन है। लेकिन उसकी सुलभता संकट में है। अल्‍हागंज इलाके में जहाँ नजर डालो तालाब सूखे हैं, कुयें बंद होते जा रहे हैं यहां तक की नल भी बिगडे पड़े हैं। ऐसी हालत में जीवन कहां सुरक्षित है। जल के अभाव में ग्रामीणों पर गम्‍भीर संकट मंडरा रहा है। अफसोस है कि स्‍थानीय प्रशासन की ओर से गर्मी की कोई तैयारी भी होती नहीं दिख रही है।


कस्बे का सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र जहाँ दर्द से कराहते मरीज़ आते हैं। उनकी जुबान पर एक ही शब्द होता है पानी, दवा का नम्‍बर तो बाद में आता है। लेकिन वहाँ अस्पताल में दोनों ही चीजें नदारत हैं। यहां इण्डिया मार्क हैंडपम्प पिछले एक साल से खराब पडा है। इसी प्रकार ग्राम पंचायत लालपुर इमलिया में तीन  हैंडपम्प खराब पड़े हैं। इसी प्रकार ग्राम पंचायत नगलाहलू में लगभग 12 हैंडपम्प होंगे जिसमें 5 नल खराब पड़े हैं। एक नल तो लगभग पाँच साल से खराब पडा है। इसी प्रकार ग्राम पंचायत केबल रामपुर चिलौआ में 4 हैंडपम्प रिबोर पर थे जिसमें से 1 हैंडपम्प सही किया गया, वो भी  6 महीने ही चल सका 3 की स्थिति वही बनी है।

इसी प्रकार ग्राम पंचायत इस्लामगंज मे लगभग 40 हैंडपम्प हैं। उसमें से 9 हैंडपम्प  लगभग एक साल से रिबोर पर है। इसी प्रकार ग्राम पंचायत वेलाखेडा में 14 हैंडपम्प रिबोर पर हैं। इसी प्रकार ग्राम पश्चिमी मंझा में दो हैंडपम्प खराब पड़े हैं। गांव के रामप्रकाश कुशवाह ने खुलासा TV को बताया कि नल खराब होने से ग्रामीण गर्मी की हालत में पानी के लिए तरस रहे हैं। जबकि नगर पंचायत अल्हागंज में 94 इण्डिया मार्क हैंडपम्प हैं। जिसमें 22 हैंडपम्प खराब चल रहे है। उसमें भी  9 हैंडपम्प रिबोर पर है। और 13 हैंडपम्प छोटी मोटी कमी से खराब चल रहे हैं। इसमें बस स्टेशन के अन्दर लगे दो हैंडपम्प भी  शामिल हैं। यात्री परेशान है। यही स्थिति लगभग दो दर्जन ग्राम पंचायतों की है। जहाँ के अधिकांश हैंडपम्प या तो रिबोर पर है या फिर छोटी मोटी कमी के चलते खराब पड़े है। इस  स्थिति के चलते जल और जीवन दोनों ही संकट में है।भीषण गर्मी पडने के आसार हैं एैसे में ग्रामीणों का तो अब भगवान ही मालिक है।

Special News

Health News

Religion News

Business News

Advertisement


Created By :- KT Vision