Latest News

रविवार, 5 मार्च 2017

जिले में यूपी बोर्ड की परीक्षा पूर्ण रूप से नकल विहीन कराई जायेगी : डीएम

शाहजहाँपुर 05 मार्च 2017 (खुलासा TV ब्यूरो). जिले में 16 मार्च 2017 शुरू हो रही यू.पी. बोर्ड की परीक्षा की पवित्रता और शुचिता बनाये रखते हुये पूर्ण रूप से नकल विहीन परीक्षा कराई जायेगी। उक्त निर्देश जिलाधिकारी कर्ण सिंह चौहान ने माध्यमिक शिक्षा परिषद उत्तर प्रदेश की हाईस्कूल एवं इण्टरमीडियट की परीक्षा हेतु केन्द्र व्यवस्थापकों, नियुक्त जोनल/सेक्टर मजिस्ट्रेट की गांधी भवन प्रेक्षागृह में आयोजित बैठक को सम्बोधित करते हुये दिये।

जिलाधिकारी ने समस्त केन्द्र व्यवस्थापकों से पूछा कि क्या वह नकल विहीन परीक्षा कराने के लिये सहमत हैं। इस पर समस्त केन्द्र व्यवस्थापकों ने सहमति देते हुये जिला प्रशासन के साथ कन्धे से कंधा मिलाकर नकल विहीन परीक्षा कराने की वचनबद्धता दी। जिलाधिकारी ने कहा कि हम लोग प्रतिबद्ध हैं कि जिले में नकल विहीन परीक्षा कराई जायेगी। उन्होंने समस्त नियुक्त जोनल/सेक्टर/स्टेटिक मजिस्ट्रेट को निर्देश दिये कि वह पूरी परीक्षा में केवल 30 घण्टे ईमानदारी से गम्भीरता पूर्वक समय दे दें तो निश्चय ही पूरी परीक्षा नकल विहीन हो जायेगी। उन्होंने कहा कि हाईस्कूल के गणित, विज्ञान और अंग्रेजी पेपरों के दिन तथा इण्टर के विज्ञान के विभिन्न विषयों गणित, अंग्रेजी के पेपरों में समय देते हुये परीक्षा केन्द्रों पर बैठ जाये तो निश्चय ही उस परीक्षा केन्द्र पर नकल नहीं हो पायेगी। 

जिलाधिकारी ने कहा कि  सभी नियुक्त मजिस्ट्रेट अपने शक्ति का सही उपयोग करें और यू.पी.बोर्ड की परीक्षा को गुणवत्तापूर्ण ढ़ंग से सम्पन्न करायें। ईमानदार छात्रों को भविष्य में सरकारी सेवाओं में नौकरी पाने में आसानी होगी। जिलाधिकारी ने स्पष्ट रूप से निर्देश दिये कि यदि किसी परीक्षा केन्द्र पर नकल करते हुये कोई छात्र-छात्रायें पाये गये तो निश्चय ही सम्बन्धित केन्द्र व्यवस्थापक के विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही होगी। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि परीक्षा में कोई केन्द्र व्यवस्थापक, कक्षनिरीक्षक सहित कोई भी मोबाइल फोन, ब्लूटूथ, कैलकूलेटर आदि लेकर नही जायेगा। जिलाधिकारी ने कहा कि मैं स्वंय परीक्षा केन्द्रों पर हो रही परीक्षा का पुलिस अधीक्षक के साथ प्रतिदिन औचक निरीक्षण करूंगा और जिले के समस्त प्रशासनिक अधिकारी औचक निरीक्षण करेगें। 

पुलिस अधीक्षक के.बी.सिंह ने कहा कि परीक्षा केन्द्र एक मन्दिर है। उस पवित्र स्थल में गलत कार्य नहीं होने दिये जायेगें। उन्होंने कहा कि इस बैठक का उद्देश्य है कि परीक्षा को नकल विहीन रखते हुये सफल बनाया जाये उन्होंने कहा कि समस्त थानाध्यक्षों, पुलिस क्षेत्राधिकारियों को निर्देश दिये गये है कि वह परीक्षा शुरू होने के एक घण्टे पूर्व से ही परीक्षा केन्द्र पर पहुंच जायेगें और किसी भी नकल कराने वाले को परीक्षा केन्द्र के आस-पास आने नही दिया जायेगा। जिला विद्यालय निरीक्षक के.एल.वर्मा ने बताया कि जिले में कुल 137 परीक्षा केन्द्र बनाये गये है। जिनमें हाई स्कूल के कुल संस्थागत एवं व्यक्तिगत 47017 छात्र-छात्रायें हैं और इण्टरमीडियट में 34447 छात्र-छात्रायें है। उन्होंने बताया कि कुल 81464 छात्र-छात्रायें परीक्षा में भाग लेगें। उन्होंने कहा कि केन्द्र व्यवस्थापक यह ध्यान रखेगें कि बोर्ड द्वारा प्राप्त क्रमांकित उत्तर पुस्तिका ही परीक्षार्थियों दी जाये। अन्य कोई भी उत्तर पुस्तिका न दी जाये। साथ ही वही प्रश्न पत्र की गड्डी खोली जाये जिस विषय व तिथि एवं पाली की परीक्षा हो। गलत पेपर न खोले अन्यथा सम्बन्धित के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही होगी। उन्होंने कहा कि सभी ब्लेक बोर्ड मिट्टी से पुता होना चाहियें और विषय अध्यापक की ड्यूटी न लगाई जाये। उक्त अवसर पर प्रधानाचार्य परिषद के अध्यक्ष के.के.शुक्ला ने सफल संचालन करते हुये समस्त केन्द्र व्यवस्थापकों की ओर से परीक्षा को नकल विहीन और सही ढ़ंग से कराने आश्वासन दिया। उक्त बैठक में नगर मजिस्ट्रेट, समस्त उपजिलाधिकारी, समस्त केन्द्र व्यवस्थापक और नियुक्त समस्त मजिस्ट्रेट आदि उपस्थित रहे।

Special News

Health News

International


Created By :- KT Vision