Latest News

शुक्रवार, 27 जनवरी 2017

अल्हागंज - रामगंगा नदी से छठवें दिन बरामद हुयी महिपाल की लाश

अल्हागंज 27 जनवरी 2017. क्षेत्र के गांव गोरा महुआ गाड में रविवार की शाम को मछलियों के शिकार को लेकर दो पक्षों में हुऐ संघर्ष में रामगंगा नदी में डूबे महिपाल सिंह की लाश शुक्रवार की सुबह बरामद हो गई। लाश का पता नहीं लगने के कारण क्षेत्र में कई तरह की चर्चायें भी शुरु हो गई थीं, लेकिन लाश बरामद होने के बाद महिपाल के डूबने का सच भी सामने आ गया है।

लाश बरामदगी के दौरान मौके पर मृतक महिपाल की पत्नी आशा ने बताया कि उसके पति रामगंगा नदी के किनारे खेतों को देखने गऐ थे। वहीं पर किसी बात को लेकर उसके पति और ठिगरीं गांव के नित्तू पुत्र इन्द्रजीत, गौरव पांडे पुत्र सत्यपाल तथा अमित पुत्र यशवीर से झगड़ा हो गया था। जिसमें इन लोगों ने पति की पिटाई करते हुऐ नदी में फेंक दिया था। मौके पर कुछ लोग उनको बचाने के लिए आगे बढे भी तो दबंगो ने हथियार दिखाते हुऐ किसी को नदी में नहीं घुसने दिया। जिसकी वजह से उनके पति की नदी में डूब कर मौत हो गई। बताते हैं कि लाश के चहरे पर हल्के घाव के निशान भी थे। ज्ञात रहे लाश को नदी मे ढूंढने के लिए गोताखोर फ्लड टीम तथा पीएसी के जवानों को भी लगाया गया था। पानी में जाल भी डलवाऐ गऐ थे लेकिन लाश का पता नहीं लगा था। जिसको लेकर कई तरह की चर्चायें भी  शुरु हो गई थीं, लेकिन लाश बरामद होने के बाद महिपाल के डूबने का सच भी  सामने आ गया है।

मौके पर लोगों का यह भी  कहना था कि जहाँ पर महिपाल सिंह डूबे थे वहाँ पर पुरानी डिब थी और पच्चीस फिट गहरा पानी भी था। लोगों ने डिब के पास से पत्थर व ईंटे निकाल ली थीं। जिसकी वजह से मौके पर सड़क व पानी के बीच गहरी खाई सी बन गई थी सम्भवत: उसी में लाश फंसी रही और तीन दिन लगातार ढूंढने पर भी नहीं मिली थी। बीती रात हुई बारिश और तेज हवा चलने से लाश स्वतः ही बहकर मनिहार गांव के पास पहुँच गई जिसे शुक्रवार की सुबह ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस ने बरामद कर लिया। लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। 

मृतक के हैं पाँच बच्चे -
मृतक महिपाल अपने परिवार में अकेला कमाने वाला था। वह खेतीबाडी के बल पर परिवार का भरण पोषण करता था उसके पाँच बच्चे हैं। जिसमें सबसे बडी पुत्री रीतू विवाह योग्य है। इसके अलावा सुखवीर, श्यामवीर, रीतेश और सबसे छोटा पुत्र अनुराग  छह वर्ष का है। मृतक की माँ सत्तर वर्षीय सावित्री रो-रो कर कह रही थी कि बच्चे कैसे पलेंगे, रीतू की शादी कौन करेगा। ज्ञात रहे कि मृतक के भाई राजेन्द्र ने घटना के दूसरे दिन सोमवार को उपरोक्त तीनों अभियुक्तों के विरुद्ध नामदर्ज रिपोर्ट लिखा दी थी।

Special News

Health News

International


Created By :- KT Vision