Latest News

सोमवार, 14 नवंबर 2016

कानपुर - नमक लेने गई महिला की गड्ढे में गिरने से मौत

कानपुर 14 नवम्बर 2016 (मोहित गुप्ता). नमक की अफवाह ने एक महिला की जान ले ली, नमक की कमी की अफवाह के चलते महिला पहले तो अपने क्षेत्र की कई दुकानों में नमक के पैकट की मांग करती रही, जब उसे नमक नहीं मिला तो वह आधा किलोमीटर दूर बाकरगंज बाजार की ओर जा रही थी कि अचानक नगर निगम द्वारा खोदे गए छह फिट गहरे गड्ढे में जा गिरी और उसकी मौत हो गयी।

जानकारी के अनुसार किसी तरह वहां मौजूद लोगों ने उसे गड्ढे से बाहर निकाला। गड्ढे में गिरने की सूचना पर पहुंची पुलिस ने स्थानीय लोगों की मदद से उसे उर्सला अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उसकी उपचार के दौरान मौत हो गई। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। बाबूपुरवा कोतवाली क्षेत्र स्थित बगाही में रहने वाले राम नरेश सविता सब्जी का ठेला लगाकर अपने परिवार का भरण पोषण करते हैं, परिवार में पत्नी ममता (52) दो बेटे ब्रिजेश और जितेश दोनों ही सब्जी बेचने का काम करते हैं। गुरुवार देर शाम जैसे ही देश में नमक के स्टाक कम होने की अफवाह फैली तो पूरा शहर नमक खरीदने के लिए सडक पर आ गया और किराने की दुकानों पर पहुच गया। जब इसकी जानकारी ममता (52) को हुई तो वह भी नमक खरीदने के लिए निकाल पड़ी। बहु रोशनी के मुताबिक वह अपने क्षेत्र की सभी दुकानों पर नमक खरीदने के लिए भटकती रही लेकिन उसे नमक नहीं मिला। इस बात से वह और भी ज्यादा परेशान हो गई कि यदि नमक नहीं मिला तो बच्चे कैसे खाना खाना खायेंगे।

रोशनी ने बताया कि कई दुकानदारों से वह मिन्नतें करती रही कि दो पैकट ही नमक दे दो लेकिन किसी ने नहीं दिया। वह नमक के पैकट के मनमाने दाम मांग रहे थे। जब नमक नहीं मिला तो घर से आधा किलोमीटर दूर बाकरगंज बाजार जाने लगी, लेकिन वह दुकान पहुंचती उससे पहले ही नगर निगम ने एक छह फिट गहरा गड्ढा खोदा था जिसमें पाइप लाइन बिछाई जा जा रही थी, उनका हडबड़ाहट में पैर फिसल गया और वह उस गड्ढे में गिर गई। रोशनी ने बताया कि मेरे सास का सिर गड्ढे में पड़े ईटों से टकरा गया जिसकी वजह से सिर में गंभीर चोट लग गई। वहां मौजूद लोगों ने उन्हें बाहर निकाला जब पुलिस वहां पहुंची तो स्थानीय लोगों की मदद से उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। लेकिन कुछ उपचार होता कि उससे पहले ही उनकी मौत हो गई। पुलिस ने अस्पताल से सीधे उनके शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

मृतका के रिश्तेदार अनूप के मुताबिक नमक और नगर निगम का गड्ढा उनके लिए कब्र बन गया। नगर निगम का यह गड्ढा बीते 15 दिनों से खुला पड़ा है, आये दिन उसमें कोई न कोई गिरता रहता है लेकिन सम्बंधित अधिकारी इस इस दिशा में ध्यान नहीं देते हैं। इनकी लापरवाही की वजह से ये जान गई है। बाबूपुरवा कोतवाली इंस्पेक्टर के.के सिंह के मुताबिक गड्डे में गिर कर महिला की मौत हुई है। पुलिस ने उन्हें उपचार के अस्पताल में भर्ती कराया था, लेकिन उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।


Special News

Health News

Advertisement


Created By :- KT Vision