Latest News

शुक्रवार, 18 नवंबर 2016

राईस मिलर्स को पंजीयन का अंतिम मौका, आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत होगी कार्यवाही

छत्तीसगढ़ 18 नवम्बर 2016 (रवि अग्रवाल). खाद्य विभाग द्वारा खरीफ विपण वर्ष 2016-17 में उपार्जित धान के कस्टम मिलिंग कर निराकरण किए जाने हेतु राईस मिलर्स की बैठक कलेक्टर शम्मी आबिदी की अध्यक्षता में जिला कार्यालय के सभाकक्ष में संपन्न हुई। कलेक्टर ने सभी मिलरों से पुनः आग्रह किया कि सर्वप्रथम मिल का अग्रिम पंजीयन तत्काल करायें। जिले के मिलर्स कस्टम मिलिंग को लेकर अब भी अड़े हैं।

कलेक्टर ने अवगत कराया कि शासन द्वारा छत्तीसगढ़ कस्टम मिलिंग चावल उपार्जन आदेश 2016 अधिसूचित किया गया है। जिला कलेक्टर्स को निर्देश है कि वे शासन का आदेश न मानने वाले मिलरों पर इस अधिनियम के तहत कार्यवाई करें। कलेक्टर ने कहा कि अन्य जिले के मिलर्स पंजीयन कराने आगे आ रहे हैं। सभी मिलर्स को नोटिस सर्व हो चुकी हैं, अन्यथा प्रशासन को आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत कार्यवाही किए जाने के लिए मजबूर होना पड़ेगा। ऐसी स्थिति जिले में निर्मित न होने पाए, ऐसी अपेक्षा उन्होंने सभी मिलर्स से की है। मिलर्स ने पृथक से अपने एसोसिएशन के अध्यक्ष से चर्चा कर शीघ्र इसका हल निकाले जाने की पहल की है। आशा है इसका सर्वमान्य हल निकाल लिया जाएगा। बैठक में राइसमिलर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष सर्वेश चैहान सहित सभी मिलर्स, सहायक खाद्य अधिकारी एल.आर. यदु सहित अन्य उपस्थित थे।
  
पहले दिन 953 क्विंटल धान की खरीदी -
उत्तर बस्तर(कांकेर) जिले में खरीफ विपणन वर्ष 2016-17 में समर्थन मूल्य पर किसानों से धान उपार्जन 15 नवम्बर से प्रारंभ हो गया है। कांकेर जिले में आज 09 खरीदी केन्द्रों में 953 क्विंटल धान का उपार्जन किया गया है। शेष 102 खरीदी केन्द्रों में 15 नवम्बर को धान की आवक नहीं हुई। 15 नवम्बर को खरीदी केन्द्र अमोड़ा में 104 क्विंटल, दसपुर में 44.4, पुसवाड़ा में 81.2, हाराडुला-163.4, बारदेवरी-16.8, बेवरती-146.8, उमरादाह-17.2, दमकसा-40 और संबलपुर में 339.2 क्विंटल धान की खरीदी की गई। उक्ताश्य की जानकारी खाद्य अधिकारी द्वारा दी गई।

Special News

Health News

Advertisement


Political News

Crime News

Kanpur News


Created By :- KT Vision