Latest News

गुरुवार, 27 अक्तूबर 2016

उत्‍तर प्रदेश को न भतीजा ठीक कर सकता है, न बुआ ठीक कर सकती हैं - अमित शाह

इटावा 27 अक्‍टूबर 2016 (इटावा ब्‍यूरो). उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी और यादव परिवार में जारी अंर्तकलह  के बीच बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने गुरुवार को इटावा में एक रैली को संबोधित करते हुये कहा कि मायावती के समय में बलात्कार के मामलों में 161 फीसदी की बढ़ोतरी हो गई थी. इसलिए राज्य को न भतीजा ठीक कर सकता है, न बुआ ठीक कर सकती है. उन्होंने यूपी के किसान का मुद्दा भी उठाया.

अमित शाह ने कहा कि चाचा-भतीजा घोटाला कर रहे हैं और किसानों तक रुपया नहीं पहुंचने दे रहे हैं. जबकि नरेंद्र मोदी ने यूपी को अधिक पैसे देने का फैसला किया था. उन्होंने कहा कि अगर 1 लाख करोड़ रुपये से यूपी का विकास करना है तो बीजेपी की पूर्ण बहुमत से सरकार बनाएं, हम एक-एक पैसे का जवाब देंगे. उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था का मतलब ही सरकार ने बदल दिया. शाह ने कहा कि बीजेपी की सरकार बनी तो चिप्स बनाने की फैक्ट्री लगवाएंगे ताकि किसानों को आलू का सही दाम मिले. शाह ने कांग्रेस को वोटकटवा पार्टी बताया और कहा कि कांग्रेस को जि‍ताने के लिए कांग्रेस इस चुनाव में लड़ रही है. 

अमित शाह ने कहा है कि ढाई साल में मोदी सरकार पर विपक्ष भी भ्रष्टाचार के कोई आरोप नहीं लगा पाई है. जबकि सपा और कांग्रेस लगातार भ्रष्टाचार करती रही है. शाह ने कहा है कि दीवाली पर शहीद की याद में भी एक दिए जरूर जलाएं. बीजेपी इस रैली के जरिये मुलायम के गढ़ में सेंध लगाने की कोशिश कर रही है. कांग्रेस की आलोचना करते हुए शाह ने कहा कि कांग्रेस ने पानी, जमीन, आकाश, पाताल हर जगह घोटाला किया. रैली के शुरू में शाह ने कहा कि लखनऊ तक आवाज जानी चाहिए, बीजेपी की बहुमत से सरकार बनेगी. अमित शाह की इस रैली को सफल बनाने के लिए 'संकल्‍प महारैली ' नाम दिया गया है, ये रैली इटावा के नुमाइश मैदान में होने जा रही है. मुलायम सिंह के गृह जिले में हो रही रैली के कई मायने निकाले जा रहे हैं. कहा जा रहा है कि इस रैली के जरिए अमित शाह सपा परिवार में चल रही अनबन को भुनाने की कोशिश करेंगे. 

इटावा और औरेया में 6 विधानसभा सीटें हैं. इस समय सभी सीटें समाजवादी पार्टी के पास हैं और बीजेपी की इसपर नजर है. रैली में बीजेपी ने लगाई पूरी ताकत बीजेपी ने इस रैली को सफल बनाने के लिए पिछले दिनों बपसा छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए बृजेश पाठक की दी है. रैली के बाद गुरुवार शाम अमित शाह लखनऊ में वरिष्ठ नेताओं के साथ आगामी 5 नवम्बर से शुरू होने वाली चार परिवर्तन यात्रा की योजनाओं के बारे में चर्चा करेंगे. यूपी बीजेपी के अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य की मानें तो इटावा की ये रैली ऐतिहासिक होगी. उन्होंने कहा कि बीजेपी की यह रैली समाजवादी पार्टी के कुशासन के खिलाफ है. रैली में दो लाख से अधिक लोगों के पहुंचने की उम्मीद है. अचानक गुजरात से दिल्ली लौटे थे अमित शाह गौरतलब है कि यूपी में सपा में चल रही कलह से बन रहे राजनीतिक हालात के मद्देनजर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह बुधवार को अपने गुजरात दौरे से अचानक दिल्ली लौट आए. अमित शाह का दो से तीन दिन तक गुजरात में रहने और अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों से संबंधित विषयों पर चर्चा करने के लिए पार्टी नेताओं के साथ मुलाकात का कार्यक्रम था.

Special News

Health News

Advertisement


Created By :- KT Vision