Latest News

गुरुवार, 27 अक्तूबर 2016

अल्‍हागंज बस स्‍टेशन बना शोपीस - कर्मचारी रहते हैं नदारद, बसों का अन्दर जाना भी बन्द

अल्हागंज 27अक्टूबर 2016. कस्बे का बस स्टेशन इन दिनों शोपीस बन गया है जहाँ  कोई कर्मचारी भी नहीं है। बसें भी स्‍टेशन के अन्दर नहीं जाती है। इस स्थिति के चलते जनता का भरोसा भी टूट गया है। स्‍थानीय पब्लिक भी अब बस स्टेशन के अन्‍दर जाने से कतराती है।

प्राप्त हुई जानकारी के अनुसार कस्बे के बस स्टेशन में बसें नहीं जाती है, वह रोड पर ही सवारियाँ लेकर चली जाती है।  बस के इंतजार में सवारियां रोड पर खडी रहती हैं और जब बस आती है तो सवारियों में भगदड मच जाती है और जैसे ही बस का दरवाजा खुलता है उसमें घुसने के लिये मारामारी हो जाती है। इससे हादसा भी  होने का डर लगा रहता है।  कुछ महीने पहले बस स्टाफ की सफाई हुई थी बसें भी  अन्दर जाने लगी थीं, कैन्टीन भी खोली गई थी। पब्लिक अन्दर बैठ कर बस का इन्तजार करती थी और बस आने पर  आराम से उसमें बैठ जाती थी। अचानक अज्ञात कारणों से बसें अन्दर आना बन्द हो गई, इसके चलते कैन्टीन भी  बन्द हो गई अब बस स्टाप सिर्फ़ खण्डहर बन कर रह गया है।

बताते चले कि बरेली फरुखाँबाद मेन हाईवे पर अल्हागंज पडता है। बस अन्य जगहों से आकर अल्हागंज तिराहे पर रुक जाती हैं, वो भी मात्र दो मिनट के लिए। इन्तजार में खडी सवारियाँ जल्दी जल्दी में बस को देखकर बस की ओर भागने लगती हैं। जिससे हादसे होने की सम्भावना बनी रहती है। बस स्टेशन के दोनों गेटों पर गन्दगी की भरमार हो गई है, नल भी  खराब पड़े हैं। लैट्रीन की छत टूट कर गिर गई है और दरवाजे भी टूट कर गिर गए हैं। बस स्टेशन सिर्फ़ शोपीस बन कर रह गया है। प्रशासन इस और ध्यान देने से पता नहीं क्‍यों अब कतराने लगा है, इसके कारण जनता के लाखों रूपये खर्च करके बनाया गया ये बस स्‍टेशन उजाड पडा है। 



Special News

Health News

Advertisement


Created By :- KT Vision