Latest News

शुक्रवार, 17 जून 2016

खनन माफ़िया ने लेखपाल को दी जान से मारने की धमकी, रिपोर्ट दर्ज

अल्हागंज 17 जून 2016 (ब्‍यूरो कार्यालय). बालू मिट्टी खनन के माफ़ियों को दिए जा रहे संरक्षण की अपनी करतूत पर पुलिस कितना भी  पर्दा डालने की कोशिश करे लेकिन सच उजागर हो ही जाता है। सुबह से शाम तक बालू मिट्टी से भरी ट्रालियां थाने के गेट से होकर गुजरती रहती हैं, मजाल कि कोई उन्हें रोकने का संकेत ही कर दे। पुलिस के संरक्षण से खनन माफ़ियाओं के इतने हौंसले बढ़ गए हैं कि उनके गुर्गे लेखपाल को गालियाँ व जान से मारने की धमकी देने लगे हैं।

बुधवार की दोपहर को एक प्राप्त शिकायत के आधार पर नायब तहसीलदार ने हल्का लेखपाल मनोज बाजपेयी को गांव बेलाखेडा क्षेत्र में हो रहे मिट्टी और बालू के अवैध खनन का निरिक्षण करने के लिए मौके पर भेजा था। बताते है कि लेखपाल ने एक बालू लदी ट्राली को थाने ले चलने के लिए उसके चालक गुड्डू से कहा, चालक ट्राली को दो तीन फरलांग लेकर थाने की तरफ़ चला और फिर तुरंत ट्राली को सुनसान जगह पर रोक दी और लदी हुई बालू को वहीं पर पलट दिया और फिर लेखपाल पर हमलावर  होते  हुए तमाम गालियाँ दी । बताते हैं कि गुडडू ने लेखपाल से कहा कि हम पहले भी दो तीन तुम जैसों का मर्डर कर चुके हैं, तू चुपचाप चला जा छोडे देता हूं । इसकी तस्दीक करते हुए मनोज बाजपेयी ने बताया कि बालू खनन माफ़िया गुडडू ने उसे तमाम भद्दी भद्दी गालियाँ देते हुए जान से मारने की धमकी दी जिससे डरकर वहाँ थाने  भाग आया और घटना की उसने लिखित सूचना दी। इस सम्बन्‍ध में नायब तहसीलदार ज्ञानेन्‍द्र यादव का कहना है कि अवैध खनन होने की शिकायतें सही हैं हमारे लेखपाल को गालियाँ व जान से मारने की धमकी मिली है घटना की नामजद रिपोर्ट दर्ज करवाई जा रही है। ज्ञात रहे चार दिन पहले गांव बेला खेडा के क्षेत्र में मिट्टी बालू के अवैध खनन तथा पुलिस व माफ़ियाओं के बीच लेन देन का वीडियो वायरल हो चुका है लेकिन पुलिस ने उस पर भी  पर्दा डालने की कोशिश की थी।


* अवैध खनन की शिकायत लेखपाल मनोज बाजपेयी के द्वारा प्राप्त हुई है। लेखपाल को पुलिस को बगैर सूचना दिए मौके पर नहीं जाना चाहिए था। फिर भी  मामले की रिपोर्ट दर्ज करवाई जा रही है - एसओ धर्मेन्द्र कुमार

Special News

Health News

Advertisement


Created By :- KT Vision