Latest News

शुक्रवार, 24 जून 2016

रायगढ़ - बेटे की चाहत में पिता ने बेटियों को कुएं में फेंका, मौत

रायगढ़ 22 जून 2016 (रवि अग्रवाल). पिता पर बेटे की लालसा इस कदर हावी हो गई कि उसने एक साल की मासूम बच्ची को कुएं में फेंक दिया। इससे बच्ची की मौत हो गई। पत्नी की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। मामला कोसीर के ग्राम सिंघनपुर का है। एक माह के भीतर प्रदेश में एक जैसी यह दूसरी घटना है।

प्राप्‍त जानकारी के अनुसार ओमप्रकाश वारे की शादी 10 साल पहले हुई थी। उसके तीन बच्चे हैं। जिसमें से दो पुत्रियां है। ओमप्रकाश अंतिम संतान के रूप में पुत्र चाहता था, लेकिन उसे पुत्री हुई। इसे लेकर उसका पत्नी से विवाद होता था। इसी कारण वह एक साल की बेटी रिंकी को नापसंद करता था। मंगलवार की सुबह करीब 8 बजे जब पत्नी बाथरूम गई, इसी दौरान आरोपी ने बेटी को घर के पास के कुएं में फेंक दिया। वापस आने पर पत्नी ने जब बच्ची के बारे में पूछा तो आरोपी जवाब नहीं दे पाया। व्याकुल मां ने खोज शुरू की तो कुएं में बच्ची की लाश दिखी। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।
दूसरी घटना लगभग 20 दिन पहले बालोद जिले के डौंडीलोहारा क्षेत्र में घटी थी। यहां पर भी पिता ने बेटे की चाह में दो बेटियों को कुएं में फेंका दिया था तथा दोनों बच्चियों की मौत हो गई थी। बालोद जिला के डौंडीलोहारा तहसील मुख्यालय से 20 किलोमीटर दूर ग्राम फरतडीही निवासी चंद्रदेव हल्बा ने एक जून सोमवार को दोनों मासूम बेटियों माधुरी (8 वर्ष) व पुष्पा (6 वर्ष) को कुएं में ढकेल कर हत्या कर दी। पुलिस ने बताया कि ससुराल ग्राम खैरीडीही से शाम साढ़े छह बजे अपने गृहग्राम लौट रहा था। पहले से योजना बनाए चंद्रदेव ने गांव पहुंचने के पूर्व रास्ते में पड़ने वाले तेलीन तालाब के पास स्थित कुएं में दोनों बच्चियों को जिन्दा ढकेल दिया। इस घटना के बाद आरोपी गांव पहुंच गया। पुलिस ने बताया कि कुछ दिन पहले आरोपी ने अपनी पत्नी को घर से बाहर निकालने की धमकी दी थी। वह दूसरी शादी करना चाहता था। इसी बात को लेकर परिवार में अक्सर विवाद होता था। आरोपी ने बेटे की चाह में इस वारदात को अंजाम दिया। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

गढ़ी झूठी कहानी -
आरोपी चंद्रदेव ने गांव में पहुंचकर घटना को दूसरी दिशा में मोड़ने का प्रयास करते हुए फर्जी कहानी बताई। शाम साढ़े छह बजे घटना को अंजाम देने के बाद लगभग साढ़े आठ बजे शाम गांव पहुंचकर चंद्रदेव ने बताया कि तेलीन तालाब के पास तीन लोग अचानक उसके सामने आए और पैसे की मांग करने लगे। नहीं देने पर दोनों बच्चियों को ले जाने की बात कहने लगे। पैसा नहीं है कहने पर तीनों ने उसकी आंख में मिर्ची पाउडर फेंका। इससे वह बेहोश हो गया। थोड़ी देर बाद होश आया तो वहां दोनों बच्चियां नहीं थी।

शक होने पर कुएं में उतरे ग्रामीण -
चंद्रदेव द्वारा घटना की जानकारी देने पर काफी संख्या में ग्रामीण बच्चियों को खोजने घटना स्थल पर गए। साथ ही सुरेगांव पुलिस को भी तुरंत सूचना दे दी। पुलिस द्वारा घटना स्थल पर पहुंचकर उन बच्चियों की खोजबीन कराई गई। लगभग 15 फीट पानी से भरे गहरे कुएं में ग्राम के ही ग्रामीण चंद्रकुमार को उतारा गया। उसने पानी के अंदर से एक बच्ची की लाश निकाली। दूसरी बच्ची की लाश को निकालने के लिए कुएं में भरे पानी को मशीन द्वारा खाली किया गया। दूसरी बच्ची की लाश कांटों में फंसी मिली। पुलिस द्वारा दोनों लाशों का पंचनाम बनाकर पोस्टमार्टम के लिए डौंडीलोहारा लाया गया। संदेह के आधार पर दोनों बच्चियों के पिता चंद्रदेव को पुलिस द्वारा पूछताछ के लिए सुरेगांव थाना लाया गया। जहां पुलिस द्वारा कड़ी पूछताछ करने पर आरोपी ने गुनाह कबूल कर लिया। पुलिस द्वारा आरोपी चंद्रदेव हल्बा के विरुद्ध धारा 302 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर कार्यवाही की गई।

* पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। सुरेगांव पुलिस हत्या का मामला दर्ज कर कार्रवाई कर रही है। - गायत्री सिंह, एएसपी, बालोद

Special News

Health News

Advertisement


Created By :- KT Vision