Latest News

रविवार, 17 जनवरी 2016

छत्तीसगढ़ - 3 आईएफएस समेत 9 अधिकारियों के 18 ठिकानों पर ईओडब्लू व एसीबी का छापा

छत्तीसगढ़ 17 जनवरी 2016 (रायपुर ब्‍यूरो). रायपुर में वन, शिक्षा, स्वास्थ्य, लोक निर्माण तथा विश्वविद्यालय के अधिकारियों के घर पर आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो एवं एसीबी की टीम ने तीन महीने के अंतराल के बाद एक बार फिर काली कमाई व अनुपातहीन संपत्ति रखने के आरोपी 9 सरकारी अधिकारियों के खिलाफ ताबड़तोड़ कार्रवाई की है। छापे की कार्रवाई में 20 टीमें शामिल हैं।

एंटी करप्शन ब्यूरो (एसीबी) ने बड़ी कार्रवाई करते हुए शनिवार 16 जनवरी दिन शनिवार को राजधानी रायपुर सहित मुंगेली, बिलासपुर, धरसींवा, बलौदाबाजार, धमतरी, कोरबा, भाटापारा, खरसिया, कुनकुरी आदि उपरोक्त शहरों में पदस्थ 9 अधिकारियों के 18 ठिकानों, घर व ऑफिस में एक साथ छापा मारा। छापेमारी की कार्रवाई से सनसनी फैल गई। राजधानी रायपुर के राजेन्द्र नगर में विजेता काम्प्लेक्स में भी छापा मारा गया व विजेता काम्प्लेक्स के पीछे हथकरघा विभाग के एम.एम. जोशी के निवास में भी छापे की कार्रवाई की गई। वन विभाग के चर्चित अफसर एस.डी. बड़गैय्या, डीएफओ बलौदा बाज़ार के बिलासपुर स्थित निवास सोनगंगा कालोनी सहित ससुर फ्रेंड्स कालोनी एवम साले के निवास विजयनगरम में भी छापा मारा गया है। डीएफओ बलौदाबाजार अपनी करतूतों से काफी प्रसिद्ध हासिल किए, हरे पेड़ों की अवैध कटाई सहित कई शासकीय योजनाओं में हाथ साफ कर चुके तथा रायपुर सामान्य वन मंडल में भी पदस्थ रह चुकें हैं तथा यहां पर भी कई घोटाले करने के बाद स्थानांतरण करवा कर बलौदाबाजार निकल लिए थे। धमतरी में वन परिक्षेत्र अधिकारी टी.आर. वर्मा के ऑफिस व सरकारी निवास में दस्तावेजों को खंगाला जा रहा है। वन परिक्षेत्र दुगली में पदस्थ हैं।

9 अफसरों में से 03 भारतीय प्रशासनिक वन सेवा के अधिकारी शिवशंकर बड़गैय्या डीएफओ बलौदाबाजार, ए.एच. कपासी आईएफएस रायपुर, के.के. बिसेन आईएफएस डीएफओ वन्य प्राणी,  रेंजर के.आर. वर्मा धमतरी हैं, इसके अतिरिक्त लोकनिर्माण विभाग में एस.ई. बिलासपुर में पदस्थ टी.आर. कुंजाम, मुंगेली के सीएमओ डॉ. एस.के. बघेल, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय रायपुर में पदस्थ गोरेलाल ठाकुर, खादी ग्राम उद्योग विभाग रायपुर में एम.एम. जोशी तथा शिक्षा विभाग में कार्यरत ई.रामशरण नायक के ठिकानों पर छापा मारा गया है। इन अधिकारियों के 18 स्थानों पर लगभग डेढ़ दर्जन टीम सुबह 5 बजे से कार्रवाई प्रारंभ की गई और अभी तक जांच चल रही है। ऐसा अनुमान है कि इन अधिकारियों के पास से लगभग 25-30 करोड़ से अधिक की सम्पत्ति का खुलासा हो सकता है। 

ईओडब्लू एवं एसीबी के प्रमुख मुकेश गुप्ता ने प्रारंभिक तौर पर उपरोक्त जानकारी दी साथ ही यह पूछे जाने पर कि इनसे सम्पत्ति कितनी मिली तो उन्होंने बताया कि अभी कुछ भी खुलासा नहीं किया जा सकता क्योंकि तफ्तीश जारी है। इस जांच के उपरांत ही सभी चीज को खंगालने और संग्रहित करने के बाद ही सम्पत्ति का विस्तृत ब्यौरा दिया जा सकता है। एक सवाल पर मुकेश गुप्ता ने ये स्वीकार किया कि निश्चित रूप से पिछली कार्रवाई के बाद काली कमाई करने वाले अधिकारी होशियार हो गएं हैं, अब नगद राशि व दस्तावेजों को अपने घरों में नहीं रखें हैं, काली कमाई की सम्पत्ति कहीं और रखें हैं जिसकी जांच पड़ताल व पूछताछ जारी है। इसलिए इनकी संपत्तियों को उजागर होने में थोड़ा समय जरूर लगेगा। श्री गुप्ता ने एक सवाल पर ये भी कहा कि इन अधिकारियों के खिलाफ आई शिकायतों पर छापे के पूर्व कार्रवाई योग्य आपेक्षित सामाग्रियां और जानकारी पहले से पुख्ता कर ली गई है। विस्तृत जानकारी कल शाम तक मिलने की संभावना है। 

एसीबी और एओडब्लू की ये कार्रवाई आज इस सत्र की पहली कार्रवाई है। सितम्बर-अक्टूबर के महिने में एक साथ 8 लोगों के यहां छापे के बाद एक आईएएस अधिकारी रणवीर शर्मा के खिलाफ कार्रवाई के उपरांत ये कार्रवाई रूकी हुई थी और आज एक बार फिर 9 अलग-अलग विभाग के अधिकारियों के खिलाफ छापे में फिर से सरकारी अमले के काली कमाई करने वालों पर गाज गिरी है। 

छापे में इन अधिकारियों के यहां से बरामद की गई संपत्ति -
1. भारतीय प्रशासनिक वन सेवा के अधिकारी शिवशंकर बडगैय्या डीएफओ बलौदाबाजार के यहां 3 मकान, बिलासपुर व रायपुर में घर और 18 अन्य जमीनों के कागजात मिले हैं। इसके अलावा कई गाड़ियां व जेवरात भी बरामद हुए हैं। जिनकी कीमत करोड़ों में है।
2. एस.के. बघेल मुख्य चिकित्सा अधिकारी मुंगेली के यहां बिलासपुर मुंगेली में दो घर, चार पहिया वाहन और 20 लाख रुपए नगद मिलाकर लगभग डेढ़ करोड़ी की संपत्ति मिली है।
3. गोरेलाल ठाकुर एसपीपी कृषि विश्वविद्यालय रायपुर के यहा 60 लाख का मकान, डॉल्फिन कॉलोनी में 13 लाख का फ्लैट, जमीन एवं बैंक खातों से संबंधित कागजात और 24 लाख के एफडीआर मिले हैं। जांच अभी भी जारी है।
4. रामशरण नायक खंड अधिकारी बीईओ के यहां 2 मकान, 32 लाख नकद, 11 एकड़ जमीन और जेवरात मिलाकर करोड़ों की संपत्ति मिली है।
5. टेकराम वर्मा रेंजर दुगली धमतरी के यहां 3.30 लाख नकद, जेवरात और जमीन के कागजात मिलाकर करीब डेढ़ करोड़ की काली कमाई उजागर हुई है।
6.एम.एम. जोशी, उपसचिव, खादी ग्रामोद्योग, रायपुर के यहां 3.80 लाख नकद, रायपुर में १ करोड़ का मकान, तखतपुर में 11 एकड़ जमीन, 15 लाख के बीमा सहित जमीन और बैंक खातों के कागजात जब्त हुए हैं।
7. टी.आर. कुंजाम कार्यपालन अभियंता, लोक निर्माण विभाग, रायपुर के घर 51.81 लाख नकद, 1 किलो 200 के सोने व चांदी के जेवरात सहित जमीन और बैंकों के कागजात मिले हैं।
8. ए.एम. कपासी, वन मंडल अधिकारी रायपुर के घर छापे में 8 लाख नकद, 90 लाख कीमत की एक फैक्ट्री, एक पेट्रोल पंप, लाखों के जेवरात, 2 बैक लॉकर, रायपुर में करोड़ों की लागत का बंगला मिला है।
9. के.के. बिसेन, संचालक सह वन मंडलाधिकारी, नंदनवन जू एवं सफारी रायपुर के यहां तलाशी में 506 ग्राम के जेवरात, रायपुर में 80 लाख की कीमत का मकान और बैंक खातों के कागजात मिले हैं।

Special News

Health News

Advertisement


Political News

Crime News

Kanpur News


Created By :- KT Vision