Latest News

बुधवार, 1 अप्रैल 2015

धीरे-धीरे अंधेपन की ओर ले जाता है ग्लूकोमा

कानपुर। ग्लूकोमा की वजह से मरीज धीरे-धीरे अंधेपन की ओर बढ़ता जाता है। इसका कारण अनुवांशिक भी हो सकता है। यह बात आज डॉ0 शालिनी मोहन ने स्‍थानीय हैलेट अस्पताल में नेत्र रोगियों को सम्बोधित करते हुए कही। उन्होंने कहाकि ग्लूकोमा के कई अन्‍य कारण भी हो सकते हैं।
इनमें से एक अनुवांशिक है। आंखों पर किसी प्रकार का दबाव, निकट दृष्टि दोष, मधुमेह, आंखों में चोट लगना आदि भी इसके कारण हो सकते हैं। विश्व के ज्यादातर देशों में यह बीमारी 40 वर्ष के बाद पाई जाती है। लेकिन बदलते समय के साथ युवा अवस्था में भी इसे नजरअंदाज करना ठीक नहीं होता है। ग्लूकोमा का इलाज सरल और ज्यादातर जगह उपलब्ध है। कई बार ग्लूकोमा की ड्राप आंखों में डालने से शुरुआत में थोड़ा लालपन आ जाता है। इससे चिंतित होने की जरुरत नहीं है। यह कुछ समय बाद अपने आप चला जाएगा।पर ईलाज में लापरवाही आंखों के लिये घातक हो सकती है।

Advertisement

Political News

Crime News

Kanpur News


Created By :- KT Vision