Latest News

शनिवार, 4 अप्रैल 2015

कांग्रेस नेता का आरोप - आजम ने चलवाई गोली

रामपुर। कांग्रेस नेता फैसल खान लाला ने पुलिस से शिकायत की है कि रामपुर सिटी के सर्कल ऑफिसर अली हसन खान ने गुरुवार को हत्या करने के मकसद से उन पर गोली चलाई। उन्होंने कहा कि उन पर तब जानलेवा हमला किया गया जब वह शहर के बाहरी इलाके में अपनी टाइल्स बनाने की फैक्ट्री में थे। एक सप्ताह पहले ही राज्यपाल राम नाइक ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को चिट्ठी लिख कर फैसल खान को पर्याप्त सुरक्षा मुहैया कराने को कहा था।
लाला ने राज्यपाल से शिकायत की थी कि अखिलेश के मंत्री आजम खान के इशारे पर कई पुलिस ऑफिसर उन्हें जान से मारने की फिराक में हैं। उन्होंने अपनी शिकायत में आशंका जताई थी कि पुलिस 'फर्जी मुठभेड़' में उन्हें मार गिराने की साजिश रच रही है। तब राज्यपाल राम नाइक ने कहा था कि मुख्यमंत्री ने उन्हें मामले में कार्रवाई करने का भरोसा दिलाया है। हमले के एक दिन पहले बुधवार को सीओ अली हसन और क्राइम ब्रांच के दूसरे अधिकारियों के खिलाफ बयान दर्ज करवाने के लिए लाला रामपुर के सीजेएम के सामने हाजिर हुए थे। उन्होंने मैजिस्ट्रेट से कहा था कि पिछले साल नवंबर में कुछ पुलिस वालों ने एक फर्जी मुठभेड़ में हत्या करने के लिए उन्हें तश्का गांव से बंदूक की नोंक पर उठा लिया था। लाला के मुताबिक तब फर्जी मुठभेड़ की योजना शहजादनगर के जंगलों में बनाई गई थी। उन्होंने आशंका जताई कि सीओ अली हसन ने उनकी हत्या की साजिश रची थी। गुरुवार की घटना के बारे में बात करते हुए लाला ने कहा कि 'सीओ अपनी एके 47 राइफल और अन्य पुलिस वालों के साथ मेरी सीमेंट टाइल्स फैक्ट्री में आ धमके। वह मुझे यह कहकर धमकाने लगे कि मैंने मैजिस्ट्रेट के सामने उनके खिलाफ झूठा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि वह मुझे मेरी फैक्ट्री में ही गाड देंगे और जब मैंने कहा कि ठीक है, हिम्मत है तो ऐसा करके देखिए तो उन्होंने मुझ पर गोली चला दी। मैं किसी तरह बच गया।' कांग्रेसी नेता का दावा है कि वारदात के वक्त उनके पिता और कई कर्मचारी फैक्ट्री में मौजूद थे। सभी ने गोली चलने की आवाज सुनी। हालांकि, गोली चलाकर पुलिस वहां से भाग निकली। लाला ने कहा कि चूंकि उन्होंने आजम खान के खिलाफ फेसबुक पर पोस्ट डालने वाले बरेली के एक नाबालिग लड़के विक्की खान की मदद की थी, इसलिए मंत्री उनसे खार खाए हुए हैं। गौरतलब है कि लाला ने ही विक्की की जमानत ली थी। राज्यपाल राम नाइक ने कहा, 'फैसल लाला ने मुझे कहा कि एक पुलिस ऑफिसर ने उन पर हमला किया। मैंने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से बात कर मामले में जरूरी कार्रवाई करने को कहा है।' उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने उन्हें मामले में छानबीन का भरोसा दिलाया। इधर, मुख्यमंत्री के दफ्तर ने रामपुर एसपी साधना गोस्वामी से मामले पर विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। फैसल लाला ने बताया कि डीजीपी के दफ्तर ने उनसे शिकायत की एक कॉपी मंगवाई है। साथ ही हर तरह की मदद का भरोसा दिया है।

(IMNB)

Special News

Health News

Advertisement

Important News


Created By :- KT Vision