Latest News

मंगलवार, 15 जनवरी 2019

भारत सभी पड़ोसी राष्ट्रों से चाहता है अच्‍छे रिश्ते - राज नाथ सिंह

बहराइच 14 जनवरी 2019 (ब्यूरो). अन्तर्राष्ट्रीय व्यापार को सुलभ बनाने के लिए भारत-नेपाल सीमा पर स्थित रूपईडीहा कस्बे में लगभग 145 एकड़ भू-भाग पर लगभग 200 करोड़ रूपये से अधिक धनराशि से बनने वाले इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट की आधारशिला रखने के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्य अतिथि गृहमंत्री भारत सरकार  राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत के अपने पड़ोसी राष्ट्रों से बहुत ही अच्छे सम्बन्ध हैं मात्र एक पड़ोसी राष्ट्र पाकिस्तान को छोड़कर।


उन्होंने कहा कि भारत चाहता है कि पाकिस्तान से भी हमारे मधुर संम्बन्ध हों, लेकिन यह पड़ोसी राष्ट्र अपनी अवांछनीय गतिविधियों से बाज़ नहीं आता है। उन्होंने कहा कि हमारे देश के सैनिक, अर्द्ध सैनिक बल, इंटेलिजेन्स तथा जम्मू-कश्मीर का पुलिस बल एक टीम भावना के साथ कार्य करते हुए उनके नापाक इरादों को नाकाम करते रहते हैं।


उन्होंने कहा कि हमारी पुरानी परम्परा है कि हम भारतीय हमेशा पड़ोसियों के साथ अच्छे रिश्ते बनाकर रखते हैं। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी बाजपेई जी कहा करते थे कि जिन्दगी में दोस्त तो बदल सकते हैं लेकिन पड़ोसी नहीं बदलते। उन्होंने कहा कि वहीं एक देश को छोड़कर सभी हमारे पड़ोसी देश इस हकीकत को समझते हैं। उन्होंने कहा कि एक समय ऐसा भी आयेगा जब हमारे उस पड़ोसी देश को भी उस हकीकत को समझना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि उनके द्वारा सैनिकों को दो टूक शब्दों में निर्देश दिये गये हैं कि किसी पड़ोसी देश पर पहली गोली मत चलाना लेकिन अगर कोई एक गोली चलाये तो उसके जवाब में चलायी जाने वाली गोली को गिनने की ज़रूरत नहीं है।

गृह मंत्री ने कहा कि वर्ष 2014 में भारत विश्व के 10 अग्रणी देशों में अर्थव्यवस्था के लिहाज़ से नौंवे स्थान पर था लेकिन देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में आज भारत छठे स्थान पर है जो अगले वित्तीय वर्ष में पांचवें स्थान पर आ जायेगा। उन्होंने कहा कि यदि इसी गति से विकास की पहिया घूमता रहा तो वर्ष 2030 तक हम अमेरिका व रूस जैसे देशों को पीछे छोड़ते हुए टाप थ्री नेशन में अपना स्थान बना लेंगे। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री ने आयुष्मान भारत जैसी योजना प्रारम्भ की है जिसकी कोई दूसरी मिसाल विश्व में नहीं मिलती है। उन्होंने कहा कि सवा महीने पहले आरम्भ हुई इस योजना का लाभ साढ़े सात लाख लोगों को मिल चुका है। उन्होंने सभी जनप्रतिनिधियों को आहवान्ह किया है कि अब कोई गरीब दवा व इलाज के अभाव में दम न तोड़ने पाये। सरकारी योजना से भ्रष्टाचार को दूर करने के लिए सरकार ने सभी लोगों का बैंक में खाता खुलवाकर तमाम प्रकार की पेंशन, छात्रवृत्ति व अन्य कल्याणकारी योजना का पैसा सीधे खाते में भेजे जाने की व्यवस्था की गयी है।

उन्होंने कहा कि रूपईडीहा जैसे क्षेत्र में इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट स्थापना कोई छोटा मोटा काम नहीं है। इससे इस क्षेत्र में खुशहाली आयेगी और लोगों को रोज़गार मिलेगा। उन्होंने बताया कि भारत-नेपाल की सीमा पर स्थापित होने वाली यह प्रदेश की पहली एकीकृत जाॅच चैकी है। उन्होंने कहा कि इससे बिहार राज्य में रखसौल व जोगबनी में इस प्रकार की चैकी स्थापित की गयी हैं। सिंह ने कहा कि यह आईसीपी माल वाहनों व यात्रियों के आवागमन के लिए सभी सुविधाओं से युक्त होगा। इस परिसर में पैसेंजर व कारगो टर्मिनल अलग-अलग होंगे। यहाॅ पर सुरक्षा कर्मियों के लिए आवासीय व्यवस्था होगी।

गृह मंत्री ने कहा कि पैसेंजर व कारगो टर्मिनल सभी आधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित होगा। पूरे परिसर में सीसीटीवी कैमरे लगेंगे। बैंक, एटीएम, यात्री वाहनों व कारगो वाहनों के लिए अलग-अलग पार्किंग की भी सुविधा होगी। उन्होंने बताया कि यह आईसीपी 02 वर्ष में बनकर तैयार हो जायेगा। सीमा पार से वाणिज्य, व्यापार एवं लोगों के आवागमन में बढ़ोत्तरी होने के साथ ही अवैध व्यापार एवं अवैध घुसपैठ जैसी घटनाओं पर अंकुश लगेगा। उन्होंने इस क्षेत्र में तीसरी बार आने का अवसर मिलने पर सभी मौजूद लोगों को धन्यवाद ज्ञापित किया।

इस अवसर पर प्रदेश के सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा, प्रदेश की राज्यमंत्री (स्वतन्त्र प्रभार) बेसिक शिक्षा, बाल विकास एवं पुष्टाहार, राजस्व एवं वित्त (एमओएस) अनुपमा जायसवाल, विधायक बलहा अक्षयवर लाल गौड, विधायक पयागपुर सुभाष त्रिपाठी, विधायक महसी सुरेश्वर सिंह, विधायक नानपारा माधुरी वर्मा ने अपने सम्बोधन में कहा कि आईसीपी के निर्माण से इस क्षेत्र का विकास होगा। बहराइच जिले में उत्तर प्रदेश का प्रथम आईसीपी की आधारशिला रखने के लिए देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृह मंत्रालय तथा अन्य सम्बन्धित विभागों के प्रति आभार ज्ञापित किया। लैण्ड पोस्ट अथारिटी आॅफ इण्डिया के चेयरमैन अनिल कुमार बाम्बा ने आईसीपी निर्माण के उद्देश्यों पर विस्तारपूर्वक प्रकाश डाला।

समारोह के शुभारम्भ अवसर पर कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय नवाबगंज की छात्राओं द्वारा सरस्वती वन्दना, स्वागतगीत व देशभक्तिगीत, पं. दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना अन्तर्गत प्रशिक्षण प्राप्त करने वाली थारू जनजाति की बालिकाओं द्वारा थारू मंदिरा डाॅस तथा बृजेश पुष्कर एण्ड पार्टी द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया।


इस अवसर पर डीजी एसएसबी कुमार राजेश चन्द्रा, कस्टम कमिश्नर आलोक शुक्ला, लैण्ड पोस्ट अथारिटी आॅफ इण्डिया के सदस्य अखिल सक्सेना, लैण्ड पोस्ट अथारिटी आॅफ इण्डिया के डायरेक्टर आपरेशन कर्नल पी.के. मिश्रा, जिलाधिकारी बहराइच माला श्रीवास्तव, प्रभारी पुलिस अधीक्षक/अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण रवीन्द्र सिंह, पुलिस अधीक्षक श्रावस्ती आशीष श्रीवास्तव, सहित केन्द्र, राज्य सरकार, एसएसबी व अन्य एजेन्सियों के अधिकारी, गणमान्यजन तथा बड़ी संख्या आमजन मौजूद रहे। कार्यक्रम के अन्त में संयुक्त सचिव गृह मंत्रालय निधि खरे ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

Video News

Political News

Crime News

Kanpur News


Created By :- KT Vision