Latest News

सोमवार, 14 जनवरी 2019

आईरा के खिचड़ी भोज में उमड़ा विशाल जनसमूह


कानपुर 14 जनवरी 2019 (अनुज तिवारी). मकर संक्रांति के अवसर पर आज पनकी क्षेत्र में आल इंडियन रिपोर्टर्स एसोसिएशन (AIRA) और पनकी उघोग व्‍यापार मण्‍डल द्वारा संयुक्‍त रूप से धनुष भंग एवं खिचड़ी भोज का आयोजन किया गया। इस अवसर पर आईरा से जुड़े पत्रकारों को सम्‍मान पत्र भी प्रदान किया गया।

कार्यक्रम के संयोजक गोपाल गुप्‍ता ने बताया की आपसी एकता और समरसता के लिए इस प्रकार के सामूहिक कार्यक्रम किया जाना अति आवश्यक है। खिचड़ी भोज के इस कार्यक्रम में सैकड़ों की संख्या में लोगों ने खिचड़ी का आनंद लिया और एक दूसरे को मकर संक्रांति की बधाई दी। आईरा के मुख्‍य राष्‍ट्रीय महासचिव पुनीत निगम ने मकर संक्रांती के बारे में बताते हुये कहा कि हिन्दू पंचांग के अनुसार पौष माह के शुक्ल पक्ष में मकर संक्रांति पर्व मनाया जाता है। मकर संक्रांति पूरे भारतवर्ष और नेपाल में मुख्य फसल कटाई के त्योहार के रूप में मनाया जाता है। हरियाणा और पंजाब में इसे लोहड़ी के रूप में एक दिन पूर्व 13 जनवरी को मनाया जाता है। इस दिन उत्सव के रूप में स्नान, दान किया जाता है, तिल और गुड के पकवान बांटे जाते है, और पतंग भी उड़ायी जाती है।
 
इस अवसर पर आईरा के राष्‍ट्रीय संगठन मंत्री योगेन्‍द्र अग्निहोत्री, प्रदेश संगठन मंत्री मोहम्‍मद नदीम, प्रदेश सचिव उमेश शर्मा, प्रदेश प्रवक्‍ता डा. विपिन शुक्‍ला, आईरा सलाहकार परिषद के अध्‍यक्ष अजय श्रीवास्‍तव, आईरा अनुशासन समिति के अध्‍यक्ष शीलू शुक्‍ला, मण्‍डल संरक्षक फैसल हयात, मण्‍डल अध्‍यक्ष गोपाल गुप्‍ता, मण्‍डल महामंत्री धर्मेन्‍द्र सिंह, मण्‍डल संगठन मंत्री विकास अवस्‍थी, जिलाध्‍यक्ष आशीष त्रिपाठी, जिला महामंत्री दिग्विजय सिंह आदि वक्‍ताओं ने बताया कि मकर संक्रांति पर्व मुख्यतः सूर्य पर्व के रूप में मनाया जाता है। इस दिन सूर्य धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करता है। एक राशि को छोड़ के दूसरे में प्रवेश करने की सूर्य की इस विस्थापन क्रिया को संक्रांति कहते है, चूँकि सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है इसलिए इस समय को मकर संक्रांति कहा जाता है। इस अवसर पर सभी समुदाय के हजारों लोगों ने प्रसाद ग्रहण कर आपसी एकता का परिचय दिया।
 

Video News

Political News

Crime News

Kanpur News


Created By :- KT Vision