Latest News

शनिवार, 14 जुलाई 2018

बिजली विभाग के लापरवाह अधिकारी, हादसे की कर रहे हैं तैयारी

शाहजहांपुर 14 जुलाई 2018. शहर के पोस्टमार्टम हाउस के पीछे 11 हजार वोल्‍ट बिजली की लाइन का पोल झुकर जमीन छूने को तैयार है। स्थानीय लोग बिजली विभाग के उच्च अधिकारियों को इस बारे में कई बार अवगत करा चुके हैं, लेकिन बिजली विभाग शायद बड़ी दुर्घटना होने का इंतजार कर रहा है। अगर समय रहते पोल को सीधा नही किया गया तो बड़ी घटना होने से कोई रोक नहीं पायेगा। जिस रास्ते पर पोल झुका हुआ है वहां से लोगों का काफी आना जाना लगा रहता है।


अब्दुल्लागंज व रोजा पॉवर हाउस की बिजली सप्लाई ध्वस्त -
सूबे की सरकार बिजली को लेकर काफी सजग लग रही है लेकिन बिजली विभाग के अधिकारियों की लापरवाही से अब्दुल्लागंज व सराय काइयां के दीवान जोगराज पॉवर हाउस से सैकड़ों उपभोक्ताओं को पूरी रात अंधेरे में गुजारनी पड़ी। कल शाम को हुई बारिश से उक्त दोनों पॉवर हाउस की बिजली सप्लाई ध्वस्त हो गई। जिसको रात लगभग 3 बजे सुचारु किया जा सका, लेकिन एक घण्टा बिजली सप्लाई चालू होने के बाद फिर सुबह 4 बजे से सप्लाई बाधित हो गई। उपभोक्ताओं ने जब जेई व एसडीओ से फोन कर जानकारी लेनी चाही तो जिम्मेदार अधिकारियों ने अपने फोन बंद कर लिए। इधर बिजली विभाग के मंत्री करोड़ों रुपये खर्च करने का दावा कर रहे है लेकिन बिजली विभाग में अभी भी वही दशकों पुरानी जर्जर लाइनें व टूटे फूटे बिजली के पोल शाहजहांपुर में शोभायान हैं।


अल्हागंज में बिजली व्यवस्था ध्वस्त, सप्‍लाई मिल पा रही है मात्र चार घंटे -
एक ओर योगी सरकार 20 घंटे नगर व ग्रामीण क्षेत्रों को बिजली देने का विभाग को आदेश जारी कर चुके हैं। वहीं दूसरी और बिजली विभाग के भ्रष्ट अधिकारी एवं कर्मचारी उनके आदेशों को नहीं मानते। अघोषित बिजली कटौती और ट्रिपिंग की समस्या से अल्हागंज नगरवासी परेशान हैं। बिजली विभाग 20 घंटे में मात्र 3 से 4 घण्टे ही बिजली दे पा रहा है, पूरी रात बिजली गुल रहती है। सबसे बुरा हाल ग्रामीण फीडर का है। बिजली गायब रहने से अंधेरे में नागरिकों को चोरों का भय सताता रहता है। रोस्टर के अनुसार सप्लाई न मिलने से नागरिकों में रोष है। नगरवासियों का कहना है कि अघोषित कटौती और ट्रिपिंग की समस्या से निजात नहीं मिली तो अल्हागंज पॉवर हॉउस का घेराव किया जाएगा। 

ग्रामीण फीडर रघुनापुर से आधे अल्हागंज को विद्युत सप्लाई की जाती है। अल्हागंज समेत पूरे ग्रामीण इलाके का सबसे बुरा हाल है। रात में 8 से 9 घंटे की अघोषित कटौती से नगरवासी दिक्कत महसूस कर रहे हैं। सुरजीत सिंह, आयुष सिंह, विपिन दीक्षित,  सत्येंद्र गोपाल शुक्ला, बबलू  दीक्षित, मनोज राजपूत, शक्ति राजपूत, सुशील गुप्ता, राहुल यादव, मनीराम आदि लोगों का कहना है कि बिजली विभाग रोस्टर के अनुसार बिजली सप्लाई नहीं कर रहा है।

एक तरफ गर्मी तो दूसरी तरफ मच्छर जीना दुश्वार कर दिए हैं, ऐसे में बिजली का न होना मुसीबत बढ़ा देता है। यही नहीं कभी-कभी सुबह से शाम तक बिजली गुल रहने से पानी की विकट समस्या खड़ी हो जाती है। घरों में लगे इन्‍वर्टर सबमर्सिबल, टुल्लू आदि शोपीस बन कर रह जाते हैं।  सबसे ज्यादा दिक्कत मोबाइल चार्ज करने की होती है, मोबाइल चार्ज करने के लिए लोग यहाँ दुकानों पर 5 से 10 रुपये देते हैं। अघोषित कटौती और ट्रिपिंग की समस्या से आजिज आए नगरवासियों में बिजली विभाग के प्रति खासा रोष व्याप्त है।  सभी ने  रोस्टर के अनुसार बिजली सप्लाई की मांग की है।

Special News

Health News

Advertisement


Political News

Crime News

Kanpur News


Created By :- KT Vision