Latest News

मंगलवार, 26 जून 2018

रोडवेज कर्मचारियों ने किया 24 घंटे की बंदी का ऐलान

लखनऊ 26 जून 2018 (हिमांशु त्रिवेदी). परिवहन निगम कर्मचारियों ने सकारात्मक रचनात्मक एवं कठिन परिश्रम से विगत 4 वर्षों से करोड़ाें का शुद्ध लाभ दिया है। बावजूद इसके सरकार रोडवेज कर्मचारियों के हितों को अनदेखा कर रही है। विवश होकर यूपी रोडवेज इंप्लाइज यूनियन ने सरकार को नोटिस दिया है कि यदि 9 जुलाई तक सरकार ने पूर्व में हुये समझौते का क्रियान्वयन नहीं किया गया तो 9 जुलाई को यूनियन एक दिवसीय हड़ताल करेगी।

 

बताते चलें कि संपूर्ण भारत के SRTU में उत्तर प्रदेश परिवहन निगम विगत 5 वर्षों से कम खर्च में अधिक आय, इंधन औसत कम में अधिक संचालन एवं बस उपयोगिता में अधिक संचालन पर प्रथम स्थान प्राप्त कर पुरस्कृत हो रहा है। इन सब उपलब्धियों के दृष्टिगत निगम निदेशक मंडल ने अपनी बैठक में सातवां वेतनमान देने, मृतक आश्रितों को नियुक्ति देने एवं बसों को व्यवस्थित करने का प्रस्ताव पारित कर आधार सहित शासन को प्रस्तुत कर दिया है। इसके अतिरिक्त संविदा चालक परिचालक के परिसर में वृद्धि के साथ नियमित करने की निगम प्रबंध से सहमति बन चुकी है। अनेक प्रयास के बाद भी वर्णित ज्वलंत समस्याओं का समाधान न करने के विरुद्ध यूपी रोडवेज इंप्लाइज यूनियन ने 16 सूत्रीय मांग पत्र संलग्न कर दिनांक 12/3/2018 को चक्का जाम का नोटिस दिया था, उक्त नोटिस के क्रम में दिनांक 8/4/2018 को शासन स्तर पर समयबद्ध त्रिपक्षीय समझौता हुआ। 

पर 10 दिन के स्थान पर लगभग 2 माह व्यतीत हो जाने के बाद भी समझौते का अनुपालन एवं क्रियान्वयन नहीं किया गया, विवश होकर यूपी रोडवेज इंप्लाइज यूनियन ने दिनांक 12/6/2018 को नोटिस दिया था कि यदि दिनांक 9/7/2018 तक समझौते का क्रियान्वयन नहीं किया गया तो दिनांक 9/7/2018 को मध्य रात्रि के उपरांत दिनांक 10/7/2018 के मध्य रात्रि तक 24 घंटे की टूल डाउन, कलमबंद, चक्का जाम हड़ताल की जाएगी। नोटिस प्राप्ति के उपरांत यदि किसी पदाधिकारी या सदस्य का उत्पीड़न किया गया तो बिना किसी नोटिस के पहले ही हड़ताल कर दी जाएगी। उक्त तथ्यपरक बातों  को अंगीकार करते हुए यूनियन के प्रांतीय अध्यक्ष रामजी त्रिपाठी  जी ने 9 जुलाई की मध्य रात्रि के उपरांत शून्य प्रहर से 24 घन्‍टे की हड़ताल करने की घोषणा की है।


Special News

Health News

Advertisement


Created By :- KT Vision