Latest News

शुक्रवार, 11 मई 2018

बहराइच - स्टाफ की कमी के चलते 30 बेड वाले महसी CHC की हालत खराब

महसी 11 मई 2018 (ओम जी यादव/ऋषि नाथ). महसी का सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जिस पर रोजाना ओपीडी में औसत 250-300 मरीज देखे जाते हैं और लगभग 250000 की आबादी स्वास्थ्य सेवाओं के लिए इसी पर निर्भर है, पर यहां की व्‍यवस्‍था आधे अधूरे स्‍टाफ के सहारे जैसे तैसे चल रही है। 


यहाँ पर प्रत्‍येक माह में औसतन 250 प्रसव भी होते हैं। महसी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का जायजा लेने पहुंची खुलासा टीवी की टीम को स्टाफ रूम में मौके पर मिली स्टाफ नर्स पूर्णा सिंह और नेहा यादव ने बताया कि हर माह यहाँ लगभग 200 से 250 प्रसव कराये जाते हैं लैब असिस्टेंट अम्बिकेश कुमार मिश्र ने कहा की हर रोज लगभग 250-300 तक मरीज ओपीडी में देखे जाते हैं। चिकित्सा प्रभारी डा0 अनेक कुमार से बात करने पर उन्होंने बताया कि सीएचसी पर 6 EMO की जगह 3 EMO ही हैं तथा 4 विशेषज्ञ डाक्टर की आवश्यकता के अनुरूप संख्या 0 है सीएचसी पर कम से कम 3 स्वीपर और 4 वार्ड ब्वाय की आवश्यकता है, परन्तु दोनों एक एक ही हैं जिससे साफ़ सफाई और अन्य व्यवस्थाएं पटरी पर नहीं हैं, महिला शौचालय की गंदगी के सवाल पर उन्होंने कहा कि एक स्वीपर के द्वारा पूरी सीएचसी की सफाई दिन में एक बार से अधिक नहीं करवाई जा सकती। 

सीएचसी में आपरेशन थियेटर तो है पर कोई सर्जन की तैनाती नहीं है एक्सरे टेक्नीशियन ज्योति उपाध्याय की तैनाती तो है मगर एक्सरे मशीन नहीं है इस कारण उन्होंने अपने को जनपद पर अटैच करा लिया है, यही हाल डेन्टल हायजिनिस्ट दुष्यन्त कुमार वर्मा का है। पोषण पुनर्वास केंद्र में ताला लटकने के सवाल पर चिकित्सा प्रभारी डा0 अनेक कुमार ने कहा कि वहां कोई मरीज नहीं है इसलिए वो बंद है। कर्मचारियों की कमी के कारण चिकित्सा प्रभारी डा0 अनेक कुमार काफी चिंतित व गंभीर हैं |

Special News

Health News

Advertisement


Political News

Crime News

Kanpur News


Created By :- KT Vision