Latest News

सोमवार, 15 जनवरी 2018

फॅारेस्ट सेक्रेट्री को महिला आयोग ने नोटिस दिया, महिला वनरक्षक भर्ती में सीने की माप मामले में पूछा सवाल

रायपुर 14 जनवरी 2018 (जावेद अख्तर). वन रक्षकों की भर्ती मसले पर महिला आयोग ने सेकेट्री फ़ॉरेस्ट को नोटिस थमा कर प्रकाशित विज्ञापन में महिला वन रक्षक पद के लिए महिला अभ्यर्थी से सीने की माप मामले में सात कार्य दिवस के भीतर जवाब तलब किया है। नोटिस 26 दिसंबर को भेजा गया है, समय सीमा खत्म होने के बावजूद भी विभाग ने आयोग को उक्त संबंध में कोई जानकारी नहीं दी है। जिस पर महिला आयोग ने नाराजगी व्यक्त की है और मामले में ऊपर शिकायत करने का बताया है।

हालांकि इस नोटिस के जाते ही वन विभाग समेत लोक आयोग तक में हड़कंप मच गया है वहीं मंत्रालय में सबसे हॉट चर्चा का विषय बना हुआ है। दरअसल महिला आयोग की अध्यक्ष हर्षिता पांडेय ने पत्र भेजकर यह जानकारी मांगी है कि, जिस पद हेतु महिला अभ्यर्थी के आवेदन मांगे जा रहे है उसमें उस कंडिका की क्या उपयोगिता है? उस कंडिका के परिक्षण के लिए क्या व्यवस्था की गई है? महिला आयोग ने इस भर्ती के परिप्रेक्ष्य में, दिगर राज्यों में अपनाए जाने वाली प्रक्रिया की जानकारी भी तलब की है। 

विभाग ने नहीं दिया जवाब - 
मगर आयोग को तब झटका लगा जब निर्धारित दो सप्ताह की समय सीमा समाप्त होने के बाद रिमाइंडर लेटर विभाग को भेजा। लगभग तीन सप्ताह बीतने को है मगर विभाग ने न ही नोटिस का जवाब दिया और न ही रिमाइंडर लेटर का। जिससे आयोग अध्यक्ष को नागवार गुजरा और उन्होंने विभाग की इस कृत्य की भत्सर्ना करते हुए प्रशासन ब्यूरोक्रेसी और राष्ट्रीय आयोग को उक्त बाबत शिकायत भेजेंगी। 


* भर्ती के अंतर्गत जो कंडिका है, वह नारी गरिमा के प्रतिकूल प्रतीत होती है। विभाग को पत्र भेजकर बिंदुवार जानकारी सात दिवस के भीतर मांगी गई थी परंतु आज तक विभाग द्वारा कोई जानकारी नहीं भेजी गई है। अब इस मामले को आगे बढ़ाने के लिए तैयारी की जा रही है ताकि इस तरह की लापरवाही की पुनरावृत्ति न हो सके -  हर्षिता पांडेय, अध्यक्ष, महिला आयोग छग 

Special News

Health News

Advertisement

Important News


Created By :- KT Vision