Latest News

मंगलवार, 16 जनवरी 2018

ऐसा भाई या पिता भगवान किसी को न दें, पढ़ि‍ए रामपुर की रोंगटे खड़े कर देने वाली घटना

रामपुर 16 जनवरी 2018 (नरेश कुमार लोधी). झूठी इज्ज़त और नाक की खातिर बेटियों के खून से हाथ रंगने का सिलसिला थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। रामपुर में एक रोंगटे खड़े कर देने वाली घटना में एक पिता और भाई के दामन पर ही विवाहिता के खून की छींटें आई हैं। जानकारी के अनुसार मृतका 4 माह की गर्भवती थी।


लड़की ने दूसरी जाती के लड़के के साथ प्यार किया और फिर घर वालों की मर्ज़ी के बिना उस लड़के से शादी कर ली, लेकिन इस शादी को उसके बाप और भाई ने अपनी बे-इज्ज़ती माना और 5 दिन पहले जब वह अपने पति के साथ बाईक पर जा रही थी, उसका अपहरण कर लिया। पति ने अपहरण की रिपोर्ट भी लिखाई लेकिन पुलिस ने कछुए की चाल से कारवाई की। आखिर पुलिस ने बरेली जिले में उस महिला की लाश बरामद की, मृतिका 4 माह की गर्भवती थी, मृतका का पति अब उसकी निर्मम ह्त्या करने वाले पिता और भाई को सख्त सज़ा दिलाने की मांग कर रहा है।

मिलक के काज़ा नगला गाँव में रहने वाली "भावना" गंगवार जाती की थी जिसके साथ पढने वाले "जितेंदर कुमार" से प्रेम हो गया। दोनों ने जीवन भर साथ रहने की कसम खाई और विवाह करने का फैसला किया। जितेंदर कुमार कश्यप जाती का था, इसके चलते लड़की के घर वाले इस शादी के लिए तैयार नहीं थे। आखिर दोनों ने घर वालों की मर्ज़ी के बिना ही मंदिर में जा कर शादी की और फिर हिन्दू विवाह अधिनियम के अंतर्गत इस पवित्र बंधन का रजिस्ट्रेशन भी करा लिया। उन्होंने हाईकोर्ट की भी शरण ली और पति पत्नी की तरह एक दूसरे के साथ रहने लगे।

जानकारी के अनुसार भावना रामपुर के मिलक क्षेत्र में आगंवाडी कार्यकर्ती थी और पति भी जॉब करता था। बीती 10 जनवरी 2018 को हर रोज़ की तरह जितेंदर कुमार अपनी पत्नी भावना को मोटर साइकिल पर बैठा कर जॉब पर छोड़ने के लिए जा रहता की थाना शेह्जाद्नगर क्षेत्र में उसे एक कार और बाईक पर कुछ लोगों को पीछा करते देखा। उसने पीछा करने की बात अपने पति से कही, पति ने बचने की भी कोशिश की, लेकिन पीछा कर रही मारुती आल्टो कार ने टक्कर मार कर दोनों को गिरा दिया और  भावना के पिता और भाई उसे जबरन कार में डाल कर फरार हो गये।

लाचार पति ने थाना शेह्जादनगर में पत्नी के अपहरण की सूचना दी। घटना 10 जनवरी की थी, लेकिन पुलिस ने सारे मामले में कछुए की रफ़्तार से कारवाई आगे बढ़ाई और आखिर गाँव में ही रहने वाले उस कार के ड्राईवर को गिरफ्तार कर लिया और उसकी निशानदेही पर बरेली जिले के बहेड़ी थाना क्षेत्र के जंगल से " भावना" की लाश बरामद की, ड्राईवर पुलिस की गिरफ्त में हैं लेकिन हत्यारोपी पिता और भाई जोकि बीएसफ में कार्य करते हैं, अभी भी फरार है। जीवन भर साथ जीने और मरने की कसमें खाने वाले जितेंदर अपनी प्रिय पत्नी भावना की ह्त्या से टूट गया है। भावना 4 माह की गर्भवती थी।  जि‍तेंदर का रो-रो कर बुरा हाल है, अपनी पत्नी और होने वाले बच्चे के कातिलों के लिए वह सख्त सज़ा की मांग कर रहा है।

Special News

Health News

Advertisement


Political News

Crime News

Kanpur News


Created By :- KT Vision