Latest News

गुरुवार, 28 दिसंबर 2017

अगस्ता वेस्टलैंड में खरीदे गए हेलिकॉप्टर का दम फूला, साल भर में छ: बार करनी पड़ी आपात लैंडिंग

रायपुर 28 दिसंबर 2017 (जावेद अख्तर). मंगलवार को उस वक्त हड़कप मंच गया जब एक हेलिकॉप्टर अचानक गांव के एक मैदान पर उतर गया। रायपुर जिले के अभनपुर ब्लॉक के ग्राम सारखी में मंगलवार को हेलिकॉप्टर गांव के एक मैदान पर उतरा, माजरा समझने ग्रामीण टूट पड़े। दरअसल जगदलपुर से रायपुर के लिए उड़े छत्तीसगढ़ शासन के इस हेलिकॉप्टर में अचानक वाइब्रेशन होने के कारण पायलट को इमरजेंसी लैंडिंग करानी पड़ी। ये हेलिकॉप्टर विवादास्पद अगस्ता वेस्टलैंड खरीदी में छग सरकार ने खरीदा है।

सारखी निवासी नाफिज व ग्रामीणों ने बताया कि सुबह 11 बजे हेलिकॉप्टर की काफी तेज आवाज सुनाई देने पर ऊपर देखा तो वह काफी करीब उड़ रहा था। देखते ही देखते वह गांव के मैदान में उतर गया। हेलिकॉप्टर की इमरजेंसी लैंडिंग की जानकारी मिलते ही एसडीएम, तहसीलदार और अभनपुर थाने की टीम मौके पर पहुंच गई। उसमें पायलट और को-पायलट ही सवार थे, जो पूरी तरह सुरक्षित हैं। पुलिस और प्रशासन के आलाधिकारी घटनास्थल पर पहुंचकर सुरक्षा के सारे जरूरी बंदोबस्त किए गए। हेलिकॉप्टर में तकनीकी खराबी दूर कर इसे रवाना करने का प्रयास जारी है। 

साल में छठवीं बार हेलीकॉप्टर की आपात लैंडिंग - 
पुराने हेलीकॉप्टरों के मेंटेनेंस में इंजीनियरों की टीम फिसड्डी साबित हो रही है। सीएम-मंत्री तो कभी सेना के हेलीकॉप्टरों का दम आसमान में फूलने लगता है, फिर वहीं स्थिति आती है जैसे मंगलवार की दोपहर राजधानी के अभनपुर में सरकारी हेलीकॉप्टर की आपत लैंडिंग हुई। यह सालभर में छठवीं आपात लैंडिंग है। संयोगवश हेलीकॉप्टरों की आपात लैंडिंग में जान-माल की हानि नहीं हुई। इनके उड़ान भरने से पूर्व की तैयारियों में लापरवाही साफ तौर पर दिखती है। ये कोई जमुला नहीं, बल्कि अब तक हुई लैंडिंग के पीछे के कारणों से स्पष्ट है।

सालभर में हुई आपातकालीन लैंडिंग -
केस नंबर-1 : 17 मई को रायपुर से नारायणपुर जा रहे कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल का हेलीकॉप्टर लहराने लगा। इंजन में आई खराबी के चलते आपात लैंडिंग कराई गई। संयोगवश कोई हादसा नहीं हुआ। एक खेल के मैदान में हेलीकाप्टर को उतारा गया फिर दूसरे हेलीकॉप्टर से उन्हें नारायणपुर रवाना किया गया था।

केस नंबर-2 : 27 मई को तेज आंधी के कारण बीएसएफ के हेलीकॉप्टर को आपात लैंडिंग कराना पड़ा था। कांकेर से रायपुर के लिए हेलीकॉप्टर ने उड़ान भरी थी। इसमें बीसएसएफ के आईजी व डीआईजी सहित 8 जवान सवार थे। इन्हें द्रोणिका के कारण राजीव लोचन कॉलेज के मैदान में उतारा गया था।

केस नंबर-3 : 29 अगस्त को उच्च शिक्षा मंत्री प्रेम प्रकाश पांडेय व भाजपा की राष्ट्रीय महासचिव सरोज पांडेय सरकारी हेलीकॉप्टर से जगदलपुर गए थे। लौटते समय उनका हेलीकॉप्टर उड़ान भरते ही हवा में डगमगाने लगा, लेकिन पायलट ने सूझबूझ से आपात लैंडिंग कराई थी।

केस नंबर-4 : 27 सितंबर को नारायणपुर में नक्सली हमले में गंभीर रूप से घायल जवानों को रायपुर इलाज कराने के लिए लेकर आते समय एयरफोर्स के हेलीकाप्‍टर की अभनपुर विकासखंड के भरेंगा गांव में आपात लैंडिंग हुई थी। उस समय भी फ्यूल खत्म हो गया था।

केस नंबर-5 : 30 सितंबर को जगदलपुर में दो दिवसीय भाजपा के सम्मेलन में भाग लेने के बाद रायपुर लौट रहे मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के हेलीकॉप्टर की धमतरी जिले के पुलिस लाइन ग्राउंड में आपात लैंडिंग करानी पड़ी थी। इसके पीछे भारी बारिश और खराब मौसम कारण बताया गया था।

केस नंबर-6 : 26 दिसंबर की दोपहर 12 बजे जगदलपुर से रायपुर के लिए हेलीकॉप्टर ने उड़ान भरी, लेकिन तकनीकी खराबी के चलते एक स्कूल के प्रांगण में पायलट ने आपात लैंडिंग की। सूचना मिलते पहुंची इंजीनियरों की टीम देर तक हेलीकॉप्टर में आई खराबी को दूर करने में जुटे रहे।

Special News

Health News

Advertisement

Important News


Created By :- KT Vision