Latest News

सोमवार, 11 दिसंबर 2017

कृषकों को नही मिल रही पर्चियां, मौज मार रहे हैं माफिया

शाहजहांपुर 11 दिसम्‍बर 2017. कृषक अपना खून पसीना लगाकर फसल तैयार करता है। लेकिन कृषकों की जब फसल तैयार होकर बाजार में बिकने के लिए जाती है। तो कृषकों की फसल को माफियां औने पौने दामों में खरीद कर अपना पेट भरते है। अपना खून पसीना लगाकर गन्ना की पैदावार करने वाले कृषक पर्चियां न मिलने से काफी परेशान है। 


सर्वे के बाद भी रौजा चीनी मि‍ल पर्चियां उपलब्ध नही करा पा रहा है। रौजा चीनी क्षेत्र के कृषकों से सस्ते दामों में गन्ना खरीदकर माफियां मिल में अधिक दामों में बेच रहे हैं। गन्ना विभाग व प्रशासन के समक्ष हो रहे कारोबार से कृषक असहाय हो गए है। कृषक अपनी फसल में खाद,बीज व गुड़ाई,सिंचाई आदि लगाकर उसकी सारी उम्मीदें फसल पर टिकी होती है। ऐसे में उसे अच्छी कीमत न मिलने के कारण कृषक को भारी नुकसान उठाना पड़ता है। और कृषक कर्ज लेने पर मजबूर हो जाता है। मिल कर्मियों ने सर्वे करने पर भी बड़ी धांधली की गई है। मिल प्रशासन बड़े बड़े कृषकों व माफियाओं तथा दलालों को धड़ल्ले से पर्ची जारी कर रहा है। जिससे छोटा कृषक अगली फसल को उगाने के लिए काफी परेशान है।

गन्ना माफियाओं का गढ़ बना रौजा चीनी मिल -
रौसर कोठी स्थित रौजा चीनी मिल गन्ना दलालों व माफियाओं का गढ़ बनता जा रहा है। जब से पेराई सत्र शुरू हुआ है। तब से लेकर रौजा चीनी मिल में गन्ना अधिकारी बृजेश पटेल ने तीन बार छापामार कार्यवाही में दर्जनों ट्राले पकड़ कर सीज कराये है। बीते दिवस भी गन्ना अधिकारी ने रौजा चीनी मिल गेट से दो ट्राले गन्ने से लदे पकड़ लिए जो माफियाओं के बताए जा रहे है। जिनको आरसी मिशन थाने में सीज किया गया। तथा गन्ना अधिनियम में मुकदमा लिखा गया। लेकिन मिल प्रबंधक सब कुछ जानकर भी अनजान बने हुए है।

Advertisement

Political News

Crime News

Kanpur News


Created By :- KT Vision