Latest News

मंगलवार, 5 दिसंबर 2017

ज्ञापन सौंप की पत्रकार नवीन गुप्ता के हत्यारों को गिरफ्तार करने की मांग

अल्हागंज 05 दिसंबर 2017 (अमित वाजपेई). लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पत्रकारों की कलम को खामोश करने के लिए उनकी हत्याएं की जा रही हैं। शासन और प्रशासन की शिथिलता यह प्रदर्शित करती है की इन सभी में घालमेल है। इसी क्रम में बिल्हौर के पत्रकार (हिंदुस्तान अखबार) नवीन गुप्ता की हत्या कर दी जाती है। कानपुर संभाग के समस्त पत्रकार आंदोलित हैं ज्ञापन दे रहे हैं, मुख्यमंत्री से भी मिल रहे हैं। हत्याकांड के 5 दिन व्यतीत होने के बावजूद नवीन गुप्ता के हत्यारे आजाद हैं। 



पत्रकार का परिवार असीम पीड़ा से गुजर रहा है। भूखे प्यासे रह कर हत्यारों को गिरफ्तार करने की मांग कर रहा है। लेकिन प्रशासन की चुप्पी यह साबित कर रही है कि कहीं ना कहीं हत्यारों को प्रशासन का संरक्षण मिल रहा है। इसी क्रम में नवीन गुप्ता के हत्यारों की गिरफ्तारी को लेकर अल्लाहगंज क्षेत्र के पत्रकारों ने ऑल इंडियन रिपोर्टर्स​ एसोसिएशन (आईरा) के बैनर तले प्रदेश के महामहिम राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन थाना अध्यक्ष राजकुमार रवि तिवारी की मार्फत प्रेषित किया। जिसमें इस प्रकरण की CBI के द्वारा जांच करवाने, पत्रकारों की सुरक्षा के लिए कड़े कानून बनाने तथा उनको संरक्षण प्रदान करने के साथ ही मृतक पत्रकार नवीन गुप्ता के परिजनों को रूपये 50 लाख मुआवजा के रूप में दिया जाए। साथ​ ही उनके परिजनों को सुरक्षा मुहैया करा कर किसी एक को सरकारी नौकरी प्रदान की जाए। 

इस मौके पर आईरा के मंडल अध्यक्ष महेश चंद्र गुप्ता ने कहा है कि पत्रकारिता करना बड़ा ही जोखिम का काम हो गया है। उनकी आवाज को दबाने के लिए शासन प्रशासन और गुंडे एक हो गए हैं। पूरे पत्रकार समाज को इन सब के विरुद्ध एकजुट होकर संघर्ष करना होगा। मंडल उपाध्यक्ष अमित वाजपेई बोले कि अब समय आ गया है पत्रकारों को अपनी सुरक्षा करने के लिए हथियार भी उठाना जरुरी हो गया है। ज्ञापन देने वालों में विजय शुक्ला, अनिल लोधी, वैष्णव कुमार गुप्ता, कौशल किशोर मिश्रा, अनिल मिश्रा, सिमरजीत मान, दिनेश राठौर, पवन पाठक, विनय वाजपेई, विनीत शुक्ला, विपिन दीक्षित, उर्जितेश्वर शुक्ला, शुभम शुक्ला आदि पत्रकार मौजूद रहे।

Special News

Health News

Important News

International


Created By :- KT Vision