Latest News

शुक्रवार, 6 अक्तूबर 2017

दो दिग्गज नेताओं की नूराकुश्ती के चलते, पंडरी कपड़ा मार्केट में 40 दुकानें चार दिनों से बंद

रायपुर  06 अक्टूबर 2017 (जावेद अख्तर). प्रदेश की राजधानी रायपुर की पचासों वर्ष पुरानी सबसे बड़ी कपड़े की मार्केट पंडरी है जहां से छग और उड़ीसा तक कपड़े थोक एवं फुटकर में बिक्री किया जाता है। इसी बड़े पंडरी कपड़ा मार्केट की 40 दुकानों से अधिक तीन दिनों से बंद है। इन दुकानों के दोनों तरफ शटर खोलने पर निगम प्रशासन ने सील कर रखी है। पिछले तीन दिन से निगम अपने फैसले पर अडिग है, तो वहीं व्यापारी भी निगम के फैसले को मानने को तैयार नहीं हैं।

आखिर में व्यापारियों ने गुरूवार को बीच का रास्ता निकालकर कम से कम तीन माह यानी त्योहारी सीजन में किस प्रकार का व्यवसाय पर नुकसान हो, इसलिए अपने किराएदारों को आगे कर शपथपत्र देकर सील की गई दुकानें खुलवाने का रास्ता निकाला है। करीब 18 दुकानदार व्यापारियों ने निगम प्रशासन को दिए शपथ पत्र में कहा कि दोनों तरफ जो शटर लगी है, वह उन्होंने नहीं लगाई है। किराएदार दुकान मालिकों ने लगाई है। 22 व्यापारी एेसे हैं, जो खुद दुकान मालिक हैं और अपना व्यवसाय वहां कर हैं, उन लोगों ने अभी तक शपथ पत्र नहीं दिया है।

दो दिग्गज नेताओं की नूराकुश्ती, खामियाजा भुगत रहे व्यापारी -
कुछ व्यापारियों ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि व्यापारियों को मोहरा बनाकर शहर को दो दिग्गज नेता अपनी राजनीतिक रोटियां सेंक रहे हैं। दोनों की आपसी लड़ाई में व्यापारियों और ग्राहकों का नुकसान कर रहे है। कुछ व्यापारियों ने बताया कि एक दिग्गज नेता व्यापारियों के साथ खड़े हैं, तो दूसरे विरोध है। जो नेता विरोध में है, उनके ही शह पर निगम के अधिकारी काम कर व्यापारियों को प्रताड़ित कर रहे हैं।

थोक मार्केट को बना दिया रिटेल मार्केट -
पंडरी कपड़ा मार्केट को शासन ने थोक मार्केट के रूप में बसाया था, लेकिन यहां के व्यापारियों ने रिटेल मार्केट के रूप में तब्दील कर दिया है। यही वजह है कि यहां अब रिटेल के ग्राहक भी बड़ी संख्या में आने लगे है। व्यापारियों ने दुकानों के सामानों को शो करने के लिए दोनों तरफ शटर लगा लिए है और दोनों तरफ से व्यापार कर रहे है। इसी वजह से मुख्य मार्ग के किनारे गाड़ियां पार्क होती है और आए दिन ट्रैफिक बाधित होता रहता है।

* पंडरी कपड़ा मार्केट की जिन दुकानों को सील की गई हैं, उनके 18 किराएदार दुकानदारों ने शपथ पत्र दिया है। जिसमें तीन माह का समय मांगा है। आयुक्त के सामने इसकी रिपोर्ट शुक्रवार को पेश की जाएगी। - आर.के. डोंगरे, जोन कमिश्नर, जोन दो नगर निगम

* तीन दिनों से पंडरी की 40 दुकानें बंद हैं। यहां काम करने वाले कर्मचारियों पर रोजी-रोटी का संकट आ गया है। जब से दुकानें बंद है, तब से पंडरी मुख्य मार्ग के किनारे पहले से भी ज्यादा पार्किंग और ट्रैफिक बढ़ गया है। - विक्की रतनानी, अध्यक्ष, पंडरी कपड़ा मार्केट रिटेलर एसोसिएशन

Special News

Health News

International


Created By :- KT Vision