Latest News

मंगलवार, 3 अक्तूबर 2017

38 दिन बाद पुलिस की गिरफ्त में आई हनीप्रीत, पूछताछ शुरू

चंडीगढ़, 03 अक्टूबर 2017. डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम की सबसे बड़ी राजदार हनीप्रीत इन्‍सां आखिरकार हरियाणा पुलिस के शिकंजे में आ गई हैं। पंजाब के जीरकपुर में पटियाला रोड से हनीप्रीत को दोपहर तीन बजे गिरफ्तार किया गया। हालांकि गिरफ्तारी का श्रेय लेने को लेकर हरियाणा और पंजाब पुलिस के अपने-अपने दावे हैं। पंचकूला के पुलिस कमिश्नर एएस चावला ने बताया कि बुधवार को हनीप्रीत को कोर्ट में पेश किया जाएगा।


पंजाब पुलिस हनीप्रीत को गिरफ्तार करने की बात कह रही है, तो हरियाणा पुलिस का कहना है कि पंजाब पुलिस ने सिर्फ सहयोग किया, गिरफ्तारी हरियाणा पुलिस की SIT के इंचार्ज ने की। पंचकूला के पुलिस कमिश्नर एएस चावला ने बताया कि बुधवार को हनीप्रीत को कोर्ट में पेश किया जाएगा।


प्रियंका तनेजा उर्फ हनीप्रीत ने मीडिया से कहा कि वह अपने अगले कदम के बारे में कानूनी सलाह ले रही हैं और यहां पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय के समक्ष पेश हो सकती हैं। राम रहीम को दोषी ठहराए जाने के बाद हुयी हिंसा की घटनाओं में कम से कम 41 लोग मारे गए और कई अन्य घायल हो गए। हिंसा की इन घटनाओं के सिलसिले में ‘वांछित’ 43 लोगों की, हरियाणा पुलिस की सूची में हनीप्रीत का नाम सबसे ऊपर है। हरियाणा पुलिस ने पहले हनीप्रीत (36) के खिलाफ लुकआउट नोटिस और बाद में गिरफ्तारी वारंट जारी किया था। प्रेस से बातचीत में हनीप्रीत ने कहा कि उनके खिलाफ लगाये गये आरोप सही नहीं है।

एक अज्ञात स्थान पर एक कार में बैठी हनीप्रीत ने कहा, ‘‘(पंचकूला में 25 अगस्त को हुई हिंसा के दौरान) क्या मैं आगजनी करने वालों के साथ मौजूद थी। वे इस तरह के आरोप कैसे लगा सकते हैं।’’ हनीप्रीत की छवि एक ‘खलनायिका’, एक ‘षडयंत्रकारी’ के रूप में पेश किये जाने के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा, ‘‘वे कैसे मुझे आरोपी बना सकते हैं। मैं अपने पापा (राम रहीम) के साथ थी और एक बेटी के रूप में (25 अगस्त को) अपने कर्तव्य का निर्वहन कर रही थी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हर बेटी अपने पिता के साथ रहती है, मैं उनके साथ थी। लोगों को उकसाने के लिए क्या आपने मुझे एक शब्द कहते हुये सुना।

मैं इस उम्मीद में वहां (पंचकूला में सीबीआई की अदालत) गयी थी कि मेरे पिता शाम को लौट जाएंगे। लेकिन जब उन्हें सजा सुनायी गयी, तो मैं अवसाद में आ गयी। मैं किसी और चीज के बारे में कैसे सोच सकती थी, मैं पूरी तरह टूट चुकी थी।’’ हनीप्रीत 25 अगस्त को राम रहीम के साथ सिरसा स्थित डेरा मुख्यालय से पंचकूला स्थित सीबीआई की एक विशेष अदालत गई थीं। उस दिन डेरा प्रमुख को सजा सुनाये जाने के बाद वह उनके साथ एक हेलीकॉप्टर में सवार होकर रोहतक स्थित जेल जाने के लिए रवाना हुयी थीं।

Special News

Health News

International


Created By :- KT Vision