Latest News

बुधवार, 4 अक्तूबर 2017

लखनऊ - संविदा नर्सो का जबरदस्त प्रदर्शन जारी, मुख्‍यमंत्री से वार्ता बेनतीजा

लखनऊ 04 October 2017 (A.S Khan). संविदा नर्सो का जबरदस्त प्रदर्शन लखनऊ में जारी है। मुख्‍यमंत्री से वार्ता बेनतीजा हो जाने के बाद नर्सें आत्मदाह करने की चेतावनी दे रही हैं। वेतन विसंगतियों को दूर करने तथा नियमित करने की माँग को लेकर चल रहा नर्सों का आंदोलन मुख्‍यमंत्री से वार्ता विफल होने के बाद और उग्र हो गया है। आज नर्सो ने आर पार की जंग का ऐलान कर दिया है।


भीषण गर्मी में आंदोलनकारी नर्सो में से कई की तबीयत बिगड गई एक नर्स को हालत जादा खराब होने पर पुलिस की जिपसी में हास्पिटल पहुचाया गया। वेतन विसंगतियों को दूर करने तथा नियमित करने की माँग को लेकर विभिन्न जिलों की नर्से पिंकी सरकार के नेतृत्व में लखनऊ के लक्ष्‍मण मेला पार्क में धरना स्थल पर आन्‍दोलन रत हैं। कल पूरा दिन धरने के बाद रात को नर्सो ने कैंडल मार्च निकाल कर आंदोलन को व्यापक रूप देने की चेतावनी प्रशासन को दी थी। जिसके बाद मुखमंत्री जी के यहां से पांच नर्सो के प्रतिनिधि मंडल को मुखमंत्री ने वार्ता हेतु आमंत्रित किया था। पिंकी सरकार का आरोप है कि पांच की जगह केवल तीन नर्सो को ही मुखमंत्री से मिलने की अनुमति दी गई। तथा मुखमंत्री जी ने भी 2018/- में मांगों पर विचार करने का आश्वासन दिया जिसे मानने से नर्सो ने साफ इंकार कर दिया तथा आंदोलन को जारी रखते हुए उसे और व्यापक रूप दे दिया।

मंगल को अपराह्न दो बजे के आस पास नर्सो ने प्रशासन पर भारी पक्षपात का आरोप लगाते हुए लक्ष्‍मण मेला पार्क के बाहर के रासते को पूर्णत: ब्लाक कर दिया तथा सडक पर ही धरने पर बैठ गयीं। जिससे प्रशासन में हडकंप मंच गया। नर्सों का आरोप है की धरना स्थल पर कहीं दूर दूर तक पानी सहित कोई व्यवस्था नहीं है। सभी नर्से बाहरी जिलों से आंदोलन में शामिल होने आई हैं, जिन्हें राजधानी के बारे में जानकारी नहीं है की कौन चीज कहां उपलब्ध है। किन्तु प्रशासन के उदासीन रवैये के कारण महिलाओं के सशक्तिकरण का दावा करने वाली सरकार की पोल खुल गई। भरी धूप में भीषण गर्मी के कारण कुछ नर्सो की तबीयत बिगड गई। पुलिस कर्मियों सहित कई पत्रकारों ने 108 एम्बुलेंस सेवा को फोन किया किन्तु मौके पर एम्बुलेंस नहीं पहुँची। जिनमें से अधिक तबीयत बिगड जाने पर सवि‍ता नाम की एक नर्स को पुलिस की जिप्‍सी में अस्पताल पहुंचाया गया। आंदोलनकारी नर्सो में पिंकी सरकार, रूबी यादव, रीना, वंन्दना, गौरव, रजनी सिंह, सीमा, नि‍धि‍ सहित हजारों की संख्या में नर्सें शामिल रहीं।



Advertisement

Political News

Crime News

Kanpur News


Created By :- KT Vision