Latest News

सोमवार, 2 अक्तूबर 2017

चेंबर बचाओ संघर्ष समिति ने की घोषणा, छग से होगा जीएसटी के खिलाफ़ संघर्ष का शंखनाद

रायपुर 02 अक्टूबर 2017 (छग ब्यूरो). सेवा एवं वस्तु कर (जीएसटी) के कारण मृतप्राय हो रहे व्यापार, छोटे उद्योग और कुटीर उद्योग को बचाने 'जीएसटी हटाओ व्यापार बचाओ' का शंखनाद पूरे देश में छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से ही होगा। चेंबर बचाओ संघर्ष समिति के संयोजक कन्हैया अग्रवाल ने उक्त आशय का बयान जारी करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ चेंबर ऑफ कॉमर्स के चुनाव इस बार जीएसटी के समर्थकों और जीएसटी के विरोध करने वालों के बीच होगा।



चेंबर बचाओ संघर्ष समिति के संयोजक कन्हैया अग्रवाल ने कहा कि हमारा वादा है कि चेंबर चुनाव में जीत के बाद जीएसटी हटाओ व्यापार बचाओ अभियान का शंखनाद करने के बाद ही शपथ ग्रहण करेंगे। आम नागरिक और छोटे व कुटीर उद्योगों की चिंता सरकार को कत्तई नहीं है वरना जनहित में निर्णय अवश्य लिया जाता मगर सरकार ने बड़े उद्योगपति घरानों के प्रति अपना समर्पण और प्रेमभाव स्पष्ट कर दिया है। सरकार ने देश से झूठे वायदे किए और झूठा आश्वासन दिया। सत्ता मिलने के बाद पचासी फीसदी लोगों को हाशिये पर डाल दिया सिर्फ पंद्रह फीसदी अमीर और उच्च उद्योगपतियों के लिए। ये कैसा जनहित और राष्ट्रहित है जिसने देश को ही डुबा दिया। 
श्री अग्रवाल ने कहा कि चेंबर के पदाधिकारियों से व्यापारियों में घोर निराशा और गुस्सा है। जिस नोटबंदी और जीएसटी के कारण व्यापारी बर्बादी की कगार पर पहुंच रहा है, दुकानों और उद्योगों में मजदूरों की छंटनी हो रही है, उसके समर्थन में चेंबर के पदाधिकारी बयानबाजी करते हैं और चेंबर के सभागार में जीएसटी के समर्थन में दनादन कार्यक्रम-सम्मान समारोह आयोजित करते हैं और करोड़ों राशि खर्च कर देतें हैं। इन सब का जवाब चुनाव में व्यापारी जरूर देगा।

* देश में प्रति-व्यक्ति आय का निम्न-स्तर पर आना, अर्थव्यवस्था की घातक स्थिति उत्पन्न होना, व्यापार, लघु उद्योग और कुटीर उद्योगों की हालत नाजुक होना, जीएसटी और नोटबंदी का ही दुष्परिणाम है। - कन्हैया अग्रवाल, प्रदेश संयोजक, चेंबर बचाओ संघर्ष समिति छग 

Special News

Health News

International


Created By :- KT Vision