Latest News

बुधवार, 18 अक्तूबर 2017

नशे में धुत सरकारी डॉक्टर ने दलित मरीज के साथ की गाली गलौज, बिना इलाज अस्‍पताल से भगाया

कानपुर 18 अक्‍टूबर 2017 (विशाल तिवारी). कानपुर में डॉक्टरों की दबंगई रुकने का नाम ही नहीं ले रही है फिर चाहे वो सरकारी अस्पताल हो या गैर सरकारी हर जगह डॉक्टरों की दबंगई का यही आलम है। ताजा मामला फीलखाना थाना क्षेत्र का है जहाँ नशे में डूबे सरकारी डॉक्टर ने एक चोटिल गरीब दलित युवक के साथ गाली गलौज की और जाति सूचक अपशब्‍द कहते हुये मरीज को अस्पताल से बाहर भगा दिया।

प्राप्‍त जानकारी के अनुसार आशीष जीवट पुत्र स्व: बसंत लाल निवासी 133/171 नयापुरवा किदवई नगर निवासी युवक अपने फैक्ट्री मालिक के साथ काम पर से लौट रहा था तभी कलक्टर गंज चौराहे पर रात के लगभग 1:30 बजे आशीष का एक्सीडेंट हो गया। जिसमें आशीष को गंभीर चोटें आयी जिसके बाद आशीष पास के ही केपीएम अस्पताल में अपना इलाज करवाने गया पर जहाँ मौजूद शराब के नशे में डूबे ड्यूटी डॉक्टर ने आशीष का इलाज करना तो दूर की बात रही, उल्‍टा आशीष को माँ-बहन की गालियां बकते हुये मारने के उद्देश्य से अस्पताल के बाहर तक खदेड़ लिया। जिसके बाद आशीष वहाँ से भागकर बिना इलाज कराये किसी तरह घर वापस आ गया। घर आते ही आशीष की ताबियत बहुत ज्यादा खराब हो गयी, जिसके बाद आशीष के घरवालों ने पास के प्राइवेट डॉक्टर से आशीष का इलाज करवाया।


कानपुर में डॉक्टरों के द्वारा मारपीट एवं दबंगई करने के मामलों में दिन प्रतिदिन इजाफा हो रहा है लेकिन प्रशासन डॉक्टरों के आगे पस्त नजर आ रहा है। उपरोक्‍त मामले में पीडित आशीष ने खुलासा टीवी को बताया कि उसने मुख्‍यमंत्री, जिलाधिकारी एवं सीएमओ से न्‍याय की गुहार लगाई है। अब देखना ये है कि योगी सरकार इन दबंग प्रकृति के शराबी डॉक्टर महोदय के खिलाफ क्या कार्यवाही करती है।

Special News

Health News

Important News

International


Created By :- KT Vision