Latest News

बुधवार, 16 अगस्त 2017

केंद्र का फैसला : सुसाइड गेम Blue Whale के लिंक हटाएं Google, Facebook और WhatsApp

नई दिल्ली, 16 अगस्त 2017 (IMNB). केंद्र सरकार ने ऑनलाइन कंप्यूटर एवं मोबाइल गेम ब्लू व्हेल चैलेंज पर रोक लगा दी है। इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने सर्च इंजन गूगल इंडिया, माइक्रोसॉफ्ट इंडिया और याहू इंडिया के अलावा सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक, इंस्टाग्राम और व्हाट्सएप को ब्लूव्हेल चैलेंज गेम को डाउनलोड करने की सुविधा या इससे जुड़ा कोई लिंक अपने प्लेटफॉर्म से तुरंत हटाने को कहा है।
 
गौरतलब है कि इस गेम के बच्चों पर पड़ रहे बुरे असर को लेकर कई शिकायतें आ रही थीं। कई राज्यों में बच्चों के खुदकुशी किए जाने के मामलों को इस गेम से जोड़कर देखा जा रहा था। अब सरकार ने बच्चों को आत्महत्या के लिए उकसाने वाली इस गेम पर बैन लगाते हुये प्रमुख सर्च इंजनों और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को इसे डाउनलोड करने संबंधी लिंक हटाने को कहा है। मंत्रालय के वरिष्ठ निदेशक अरविंद कुमार के बीते 11 अगस्त को जारी निर्देश में ब्लूव्हेल चैलेंज गेम के अलावा इससे मिलते-जुलते नाम वाले ऑनलाइन गेम के लिंक भी हटाने को कहा है। 
 
कई राज्य सरकारों ने की इस गेम पर रोक लगाने की मांग
इस गेम को खेलने वाले बच्चों में आत्महत्या की प्रवत्ति पनपने की घटनाओं की शिकायतों के बाद केरल, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र सहित अन्य राज्य सरकारों की मांग पर केन्द्र सरकार ने ब्लू व्हेल चैलेंज पर रोक लगाई है। इससे पहले केन्द्रीय मंत्री मेनका गांधी ने भी सरकार से इस गेम को प्रतिबंधित करने की मांग की थी। सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद को इस गेम के बारे में शिकायतें मिलने के बाद यह पहल की गयी है। 
 
मंत्रालय ने इस गेम पर रोक लगाने के साथ ही सभी सर्च इंजन और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को ब्लू व्हेल गेम को डाउनलोड करने का लिंक हटाने के निर्देश दिए हैं, जिससे इसका इस्तेमाल या सर्च करना मुमकिन न हो। एक अधिकारी ने बताया कि इस गेम पर प्रतिबंध की आशंका को देखते हुये सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर पहले ही कई छदम या प्रॉक्सी यूआरएल या आईपी एड्रेस बना लिये गये थे। इसके मद्देनजर ही सरकार ने अपने निर्देश में सर्च इंजन और सोशल मीडिया वेबसाइट से ब्लूव्हेल चेलैंज गेम से मिलते जुलते नाम वाले या यूआरएल वाले गेम के लिंक भी हटाने को कहा है।   

Special News

Health News

Important News

International


Created By :- KT Vision