Latest News

मंगलवार, 8 अगस्त 2017

जयराम रमेश की चिंता - संकट में है कांग्रेस पार्टी का अस्तित्व, सुधरे नहीं तो हो जाएंगे अप्रासंगिक

कोच्चि, 07 अगस्त 2017 (IMNB). कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने आज यहां कहा कि कांग्रेस अस्तित्व के संकट के दौर से गुजर रही है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तथा भाजपा प्रमुख अमित शाह की ओर से मिल रही चुनौतियों का मुकाबला करने के लिए पार्टी नेताओं की ओर से समन्वित कोशिश की वकालत की। रमेश ने कहा, 'कांग्रेस पार्टी बहुत गंभीर संकट का सामना कर रही है।


उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने 1996 से 2004 तक चुनावी संकट का सामना किया, जब वह सत्ता से बाहर थी। पार्टी ने 1977 में भी चुनावी संकट का सामना किया था जब वह आपातकाल के ठीक बाद चुनाव हार गयी थी। उन्होंने कहा, 'लेकिन आज, मैं कहूंगा कि कांग्रेस अस्तित्व के संकट का सामना कर रही है। यह चुनावी संकट नहीं है। सचमुच में पार्टी गंभीर संकट में है। उन्होंने भाजपा द्वारा कथित पाला बदलवाने की कोशिश से बचने के लिए 29 जुलाई को कांग्रेस के अपने 44 विधायकों को पार्टी शासित कनार्टक के एक रिजॉर्ट में भेजे जाने के फैसले को उचित ठहराते हुए कहा अतीत में भगवा पार्टी भी अपने विधायकों को भेज चुकी है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी के लिए यह सोचना गलत रहा कि मोदी नेतृत्व वाली सरकार के खिलाफ सत्ता विरोधी लहर अपने आप चुनावों में भाजपा शासित राज्यों में काम करेगी। कांग्रेस नेता ने कहा, 'हमें समझना होगा कि मोदी, शाह के विरोध में हैं और वे अलग सोचते हैं, अलग करते हैं और अगर हम अपने दृष्टिकोण में लचीले नहीं हुए तो साफ कहूं हम अप्रासंगिक हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी को यह भी मानना होगा कि भारत बदला है। उन्होंने कहा कि पुराने नारे काम नहीं करते, पुराना फार्मूला काम नहीं करता, पुराना मंत्र काम नहीं करता। भारत बदल गया है, कांग्रेस पार्टी को भी अब बदलना होगा।

Special News

Health News

Advertisement

Advertisement

Advertisement


Created By :- KT Vision