Latest News

सोमवार, 21 अगस्त 2017

कानपुर - अवैध कब्जों से नहीं बच पाया KDA परिसर

कानपुर 21 अगस्‍त 2017 (रोहित कुमार निगम). कानपुर विकास प्राधिकरण की भूमि पर अवैध कब्ज़ा और उसे खाली कराने की विभागीय कसरतें किसी से छुपी नहीं हैं। पर इस बार तो हद ही हो गई, पूरे कानपुर में अपनी भूमि चिन्हित कर उसे अवैध कब्जों से मुक्त कराने में जुटे कानपुर विकास प्राधिकरण के अधिकारियों का अपने ही आंगन यानि कार्यालय परिसर से लगे उन अवैध कब्जों की ओर उसका ध्यान ही नहीं जा रहा है.


योगी सरकार के अनुसार प्राधिकरण अवैध कब्जों को योजनाबद्ध तरीके से लगातार गिरा कर अपनी भूमि सुरक्षित कर रहा है। पर कानपुर विकास प्राधिकरण मुख्य कार्यालय की बाउंड्रीवाल से लगे ये चेम्बर कार्यालय की सुरक्षा और गोपनीयता में सेंध लगा रहे हैं. सालों से बसे दबंग और अवैध कब्जादारों द्वारा अब इन अवैध कब्जों पर पक्का निर्माण कर लिया गया है, जिससे मार्ग अवरुद्ध हो गया है।  राहगीरों को आने जाने में मुसीबतों का सामना भी करना पड़ता है. इन समस्याओं के चलते कानपुर विकास प्राधिकरण के अधिवक्ता श्री मनोज कुमार सिंह (जिन्हें उपसचिव/सचिव के.डी.ए ने प्राधिकरण का अधिवक्ता नियुक्त किया है) ने इस पर कार्यवाही का प्रयास किया तो इन दबंग और अवैध कब्जेदारों ने अधिवक्ता मनोज कुमार सिंह पर हमला बोल दिया।

हाथापाई के दौरान अधिवक्ता कि हत्या का प्रयास भी किया गया था, घटना में प्राधिकरण के अधिवक्ता मनोज कुमार सिंह बुरी तरह घायल हो गये थे। जिसकी एफ.आई.आर सबंधित थाने में दर्ज कि गई थी। पर इस घटना के उपरांत भी अधिवक्ता ने हार न मानते हुए कब्जेदारों के खिलाफ जिलाधिकारी कानपुर के.डी.ए उपाध्यक्ष, बिजली चोरी के सम्बन्ध में केस्को एम.डी. और नगर आयुक्त को भी शिकायती पत्र लिखकर मामले से अवगत कराया है। जिस पर जिलाधिकारी ने नगर आयुक्त को फ़ौरन कार्यवाई के आदेश भी जारी किये हैं पर अभी भी कानपुर विकास प्राधिकरण से लगे अवैध कब्जों के खिलाफ कोई जमीनी कार्यवाही नहीं की गई है। देखना होगा कि पूरे कानपुर को अवैध कब्जों से मुक्त कराने में जुटा के.डी.ए प्रशासन अपना आंगन अवैध कब्जों से खाली करा पाता है या नही?

Special News

Health News

Important News

International


Created By :- KT Vision