Latest News

शुक्रवार, 9 जून 2017

कानपुर - पनकी पुलिस ने बच्ची का कलेजा निकालने के प्रयास में तांत्रिक को रंगे हाथ पकड़ा

कानपुर 09 जून 2017 (महेश प्रताप सिंह). पनकी थाना क्षेत्र में गुरूवार को मोहल्‍ले की युवती के एकतरफा प्यार में पागल एक युवक तांत्रिक के बहकावे में आ कर पड़ोसी की बेटी को कन्याभोज के बहाने अपने घर ले आया। तांत्रिक के सहयोग से उसकी बली देने का प्रयास किया। सूचना पाकर किशोरी के परिजन आनन-फानन में मौके पर पहुंचे और तांत्रिक के चंगुल से किशोरी को बचाया। तांत्रिक को लोगों ने पकडऩे के बाद जमकर पीटा और पुलिस के हवाले कर दिया, वहीं युवक मौके से भागने में कामयाब रहा।


जानकारी के अनुसार गोल्डी श्रीवास्तव पत्नी स्व0 सुनील श्रीवास्तव निवासी 62- L गंगागंज में अपने दो बच्चों पवन (11) व खुशी (7) के साथ रहती हैं। मां गोल्डी ने बताया कि आज सुबह मेरे पति के दोस्त का बेटा विनय कुशवाहा जो पावर हाउस में अपने पिता की जगह नौकरी करता है और वहीं सरकारी कालोनी 9/12 में रहता है, वो घर आया और मेरी बेटी को कन्या खिलाने के लिये अपने साथ ले जाने का आग्रह किया। जान-पहचान होने के कारण मैंने बेटी खुशी को अपने बेटे पवन के साथ उसके घर भेज दिया। पवन ने बताया कि विनय उसे बाहर रूकने की बात कहकर खुशी को अंदर ले गया। थोड़ी देर बाद शक होने पर कमरे की खिड़की से देखा कि दो बाबा मिलकर खुशी को भभूत लगा कर तंत्र मंत्र कर रहे हैं। इस दौरान उन्होंने खुशी को नए लाल पकड़े पहनाए और सिर पर भभूति लगाकर मुर्छित कर दिया। 

पवन ने वहां से भाग कर अपनी मां को सारी बात बताई। मां ने मोहल्ले की औरतों के साथ मिलकर मौके पर पहुंच कर तांत्रिक बाबा को मारा पीटा और तुरंत डायल 100 पर सूचना दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने बाबा सरोबन उर्फ भूतनाथ (70) निवासी जालौन, आशुतोष कुशवाहा पुत्र श्री पाल सिंह जरौनी हरदोई को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि विनय कुशवाहा मौके से फरार हो गया। पनकी एसओ जे.पी शाही ने बताया कि तांत्रिक ने पूछताछ के दौरान बताया कि अगर आज किशोरी की बलि दे दी जाती तो विनय को उसकी महबूबा जरूर मिल जाती। तहरीर के आधार पर तीनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। फरार विनय को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जायेगा।

Special News

Health News

Religion News

Business News

Advertisement


Created By :- KT Vision