Latest News

शुक्रवार, 23 जून 2017

शाहजहांपुर - डीएम ने नदी के किनारे बसे गांवों का बाढ़ से बचाव हेतु निरीक्षण किया

शाहजहांपुर 23 जून 2017. जिलाधिकारी नरेन्द्र कुमार सिंह ने तहसील कलान के विकास खण्ड मिर्जापुर के अंतर्गत ग्राम पहरूआ, कुनिया, हरिहरपुर, मौजमपुर आदि गांवों से सटी हुई रामगंगा नदी का बाढ़ से बचाव हेतु निरीक्षण किया। उक्त अवसर पर जिलाधिकारी ने ग्राम पहरूआ में पहुंचकर गांव से सटकर बहने वाली रामगंगा नदी बीचों बीच जो बालू इकठ्ठा हो गई है उसे उठवाने के लिये उपजिलाधिकारी एवं अधिशासी अभियन्ता सिंचाई विभाग को निर्देश दिये। 


उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि गांव की ओर जो नदी का कटान हो रहा है। उसे रोकने के लिये युक्लिपटिस की बल्ली और रेत भरकर बोरियां डालते हुये ठोकरें बनाई जाये। जिससे कटान रोका जा सकता है। गांव वालों ने बताया कि पिछली बार बाढ़ में प्राथमिक विद्यालय का स्कूल आधा बाढ़ में बह गया। अब गांव की तरफ नदी कटान ज्यादा ले रही है। बाढ़ को रोकने के लिये 1.5 किलो मीटर चैनल बन्द करने के लिये सुझाव दिया। जिस पर जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियन्ता को निर्देश दिये कि स्वंय देखकर अवगत कराये। 

जिलाधिकारी ने ग्रामवासियों से कहा कि नदी की जमीन पर कोई खेती न करें। जिलाधिकारी ने ग्राम वासियों की समस्याओं को सुनते हुये ग्राम में विद्युत उपलब्धता के बारे में जानकारी की। जिस पर ग्रामवासियों ने बताया कि गांव में कम बिजली आती है। जिलाधिकारी ने ग्राम के तालाब में बडे-बड़े कछुओं को देखते हुये जिला वन अधिकारी को फोन पर निर्देश दिये कि इस गांव में बड़े-बड़े कछुये पल रहे हैं, निरीक्षण कर इनको बड़ी नदी में छुड़वाये। एक ग्रामवासी ने बताया कि मौजमपुर लगभग 1.5 वर्ष से 6 व्यक्तियों की मृत्यु कैंसर की बीमारी के कारण हुई है। सातवां व्यक्ति भी कैंसर से पीड़ित है। उसने गांव में पीने वाला पानी अशुद्ध होने की आंशका व्यक्त करते हुये पानी की जांच कराने की मांग की। जिस पर जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी कलान तथा अपर जिलाधिकारी (वि./रा.) को निर्देश दिये कि नाम नोट करते हुये पानी की जांच करायें।

Special News

Health News

Advertisement

Advertisement

Advertisement


Created By :- KT Vision