Latest News

सोमवार, 3 अप्रैल 2017

रूर्बन मिशन योजना से बदलेगी कबीरधाम व कुण्डा की तस्वीर

छत्तीसगढ़ 03 अप्रैल 2017 (जावेद अख्तर). छग के मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह आज कबीरधाम जिले के पंडरिया विकाससखण्ड के रूर्बन मिशन योजना के कार्यक्रम में शामिल हुए। मुख्यमंत्री ने कबीरधाम (कवर्धा) जिले के 18 ग्राम पंचायतों और 29 गावों की तस्वीर बदलने के लिए 57 करोड़ 73 लाख रूपए, स्काई योजना के तहत 45 लाख लोगों को स्मार्टफोन, सामुदायिक भवन निर्माण के लिए 30 लाख रूपए के साथ कुण्डा को तहसील का दर्जा देने की घोषणा की।


मुख्यमंत्री ने कहा कि अब खेत में काम करने वाला किसान आसानी से इस स्मार्टफोन के जरिए अन्य योजनाओं के साथ-साथ कृषि योजनाओं के बारे में जानकारी ले सकेगा। मुख्यमंत्री ने यहां विशेष रूप से लोगो की चिरप्रतिक्षित मांग को भी पूरी करते हुए कुण्डा उपतहसील को तहसील का दर्जा देने की घोषणा मंच से की। साथ ही उन्होंने कुण्डा में सामुदायिक भवन निर्माण के लिए 30 लाख रूपए मंजूर करने की घोषणा की।

रूर्बन मिशन योजना से बदलेगी तस्वीर -
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज रूर्बन मिशन योजना में शामिल 18 ग्राम पंचायत और उनके 29 आश्रित गांवों के लिए कुण्डा लस्टर तथा जिले वासियों को 57 करोड़ 73 लाख रूपए के विभिन्न विकास तथा निर्माण कार्योंं की सौगात दी तथा निर्माण कार्यों का भूमि पूजन किया।  इसके अलावा उन्होंने नल-जल योजना के तहत 2 करोड़ 76 लाख की स्वीकृत कार्यों का भूमि पूजन किया। पंडरिया विस क्षेत्र की बहुप्रतिक्षित मांग फास्टरपुर से कुण्डा पहुंच मार्ग 26 किलोमीटर टू-लेन सड़क लागत 48 करोड़ रूपए की लागत से बनने वाली सड़क निर्माण का भूमि पूजन किया। यह मार्ग कबीरधाम जिले के कुण्डा क्षेत्र तथा मुंगेली जिले को आपस में जोड़ती है। वर्तमान में मुंगेली फास्टरपुर जाने के लिए लगभग 40 किमी की दूरी तय करना पड़ता था, सड़क निर्माण होने के बाद मुंगेली फास्टरपुर जाने के लिए 21 किमी की दूरी हो जाएगी। पंडित श्यामा प्रसाद मुखर्जी राष्ट्रीय रूर्बन मिशन के तहत कुण्डा कलस्टर बनाया गया है, जिसमें 18 ग्राम पंचायतें तथा उनके 29 आश्रित गांव को शामिल किया गया है। इन ग्राम पंचायतों में घोरपेड्री, खम्हरिया, खरहट्टा, खैरवारकला, खैलटुकरी, बोडतराखुर्द, कुण्डा, महली, माकरी, छितापार कला, हथमुड़ी, पेड्रीकला, रापा, रेहुटाकला, रेगाबोड़, सुरजपुर कला, सेन्हाभाठा, ओडाडबरी शामिल है, तथा इसके अतंर्गत आने वाले आश्रित 29 गांव भी शामिल है। आंगनबाड़ी भवन का जिर्णोद्धार के लिए 89 लाख 44 हजार रूपए का  कार्य भी स्वीकृत किया गया, जिसमें ग्राम पंचायत तथा उनके आश्रिम गांव घोरपेन्ड्री, बसनी, खमहरिया, अखरा, खरहट्टा, केशलमरा, खैरवारकला, लैलटुकरी, कुंडा आदि गांव शामिल है। इस योजना में नल-जल योजना के तहत रूर्बन योजना के 7 ग्राम पंचायतों को शामिल किया गया है, जिसमें ग्राम पंचायत सेन्हभाठा, पेन्ड्रीकला, महली, खम्हरिया, सुरजपुर कला, काकरी, घोरपेन्ड्री शामिल है। साथ ही 6 करोड़ 34 लाख रूपए की लागत से बनने वाली सीसी रोड, सह-नाली निर्माण कार्यों का भी भूमिपूजन किया। 

पीएम मोदी ने किया था आगाज़ छग से -
यह भी उल्लेखनीय है कि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले के डोगरगढ़ के कुरूभाठ में केन्द्र सरकार की महत्वकांक्षी योजना पंडित श्यामा प्रसाद मुखर्जी राष्ट्रीय रूर्बन मिशन का शुभारंभ किया था। इस योजना का उद्देश्य गांव की मूल आत्मा को ध्यान में रखते हुए गांव का सर्वांगीण विकास करना है। गावों में शहरी सुविधाओं का विस्तार करना है। इस योजना के तहत गावों में शहरों वाली सुविधाए दी जाएगी, जिसमें बिजली, शुद्ध पेयजल आपूर्ति, पक्की सड़क, स्वास्थ्य सुविधाएं का विस्तार पर विशेष कार्य योजनाएं बनाई गई है।

गांवों में होगी सभी सुविधाएं -
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि पंडरिया और कुण्डा क्षेत्र की समस्याएं शासन द्वारा संचालित योजनाओं के माध्यम से दूर की जा रही है और विकास के कार्य संपादित किये जा रहे है। उन्होंने कहा कि एक समय था जब कुण्डा पहुंचने में दिक्कत होती थी, क्योंकि सड़कों का निर्माण नहीं हुआ था। अब राज्य शासन द्वारा आवागमन में सुविधा के विस्तार के लिए विशेष रूप से सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ के साथ-साथ देश में विकास का एक वातावरण बना है और इसके जरिए विकास के कार्यो को मूर्त रूप दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि देश के साथ-साथ प्रदेश में स्वच्छता अभियान के तहत उल्लेखनीय प्रगति हुई है और विभिन्न जिले खुले में शौचमुक्त घोषित हो रहे है। उन्होंने विश्वास व्यक्त करते हुए कहा कि अक्टूबर 2018 तक छत्तीसगढ़ खुले में शौचमुक्त घोषित हो जायेगा। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आगे कहा कि राज्य शासन द्वारा किसानों के जीवन में परिवर्तन लाने के लिए विभिन्न योजनाओं का संचालन किया जा रहा है, जिसके तहत विशेष रूप से प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के अंतर्गत छत्तीसगढ़ में 35 लाख परिवारों को गैस कनेक्शन प्रदान करने का लक्ष्य रखा गया है और अब तक इस योजना के अंतर्गत 10 लाख लोगों को गैस कनेक्शन प्रदान कर दिया गया है। इसके अलावा सौर सुजला पंप योजना के तहत सोलर पंप स्थापना, लोगों को ईलाज के लिए स्मार्ट कार्ड प्रदाय किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए जिले में दूसरे शक्कर कारखाना की स्थापना कर दी गई है। इससे पहले मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने विभिन्न हितग्राहीमूलक योजनाओं के तहत हितग्राहियों को सामग्री का भी वितरण किया। 

कार्यक्रम का मंच संचालन अवधेशनंदन श्रीवास्तव ने किया। इस अवसर पर सांसद अभिषेक सिंह, संसदीय सचिव, कवर्धा विधायक, राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग अध्यक्ष डॉ. सियाराम साहू, गौ-सेवा आयोग बिशेसर पटेल, जिपं अध्यक्ष संतोष पटेल, जपं अध्यक्ष मधु बर्मन, लोहारा जपं अध्यक्ष पुष्पा पांडे, एसपी डी.रविशंकर, जिपं सीईओ, कलेक्टर, अपर कलेक्टर व अन्य प्रशासनिक अधिकारी एवं बड़ी संख्या में नागरिक उपस्थित थे।


* संसदीय सचिव ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा जिले के किसानों के उन्नति के लिए शक्कर कारखाना इस वर्ष की शुरूआत में सौगात के रूप में मिली है और इससे किसानों के आर्थिक सशक्तिकरण को मूर्त रूप मिलेगा। उन्होंने कहा कि फास्टरपुर सड़क का निर्माण पूरा होने पर आवागमन की सुविधा बढ़ जायेगी और इस क्षेत्र के लोगों के लिए जीवनदायिनी साबित होगी तथा कुण्डा क्षेत्र में विकास के कार्यों को अब अधिक गति मिलेगी। - मोतीराम चंद्रवंशी, संसदीय सचिव, पण्डरिया

* इस क्षेत्र में आवागमन के साधनों की सुविधा बढ़ाने के लिए सड़कों का निर्माण किया जा रहा है और लगभग एक हजार करोड़ रूपए से अधिक की राशि से सड़कों का निर्माण कार्य चल रहा है। उन्होंने आमजन से शासन की योजनाओं का लाभ लेने का आग्रह किया। - अशोक साहू, विधायक कबीरधाम

* कलेक्टर ने अतिथियों का स्वागत किया और कहा कि कुण्डा कलस्टर की 18 ग्राम पंचायतों में शहरों की सुविधाएं मिलेगी, यहां आवास योजना के तहत लोगों को पक्का मकान मिलेगा, वहीं आने-जाने के लिए सुविधा होगी तथा पेयजल सुविधा बढ़ेगी। इसके अलावा सोलर पंप की स्थापना भी इस क्षेत्र में होगी, जिससे किसानों को दोहरी फसल का लाभ मिलेगा। उन्होंने बताया कि शाला प्रवेशोत्सव का आज शुभारंभ हो रहा है। - धनंजय देवांगन, कलेक्टर कबीरधाम


* रूर्बन योजना से गांव एवं शहर की दूरी कम होने के साथ ही शहरों जैसी सुविधाएं प्रत्येक गांवों को मिलेगी। छत्तीसगढ़ शासन द्वारा गांव-गांव की बेहतरी के साथ-साथ किसान, युवा एवं समाज के हर वर्गों के लिए योजनाओं का सफल क्रियान्वयन किया जा रहा है। आने वाले समय में स्काई योजना के माध्यम से राज्य के 45 लाख लोगों को स्मार्टफोन प्रदाय किया जायेगा। इस स्मार्टफोन में राज्य शासन द्वारा संचालित प्रत्येक योजना के बारे में विस्तार से जानकारी से संबंधित एप होंगे तथा उसमें उसके एप्लीकेशन्स होंगे, जिसके जरिए सभी लोग शासन की योजनाआें अवगत होंगे, जिससे शासन की योजनाओं का अधिक से अधिक लोग लाभान्वित हो सकेंगे। सरकार का लक्ष्य व ध्येय विकास पर केंद्रित है। - डॉ. रमन सिंह, मुख्यमंत्री छग शासन

Special News

Health News

Religion News

Business News

Advertisement


Created By :- KT Vision