Latest News

सोमवार, 17 अप्रैल 2017

केन्द्रीय मंत्री के जनता दरबार में उमड़ी फरियादियों की भीड़

शाहजहाँपुर 17 April 2017 (खुलासा TV ब्यूरो). केन्द्रीय मंत्री कृष्णाराज ने आज अपने आवास पर जनता दरबार लगा कर जनता की समस्याओं को सुना और मौके पर ही अधिकारियों को फोन कर समस्याओं का निस्तारण कराया। शिकायत में अल्लागंज के रमाकांत द्वारा बैंक आॅफ बड़ौदा की शाखा इस्लामगंज की शिकायत की गई। जिसमें मैनेजर द्वारा उनसे ऋण स्वीकृति हेतु घूस माँगी गयी है। जिस पर मंत्री ने रमाकान्त को आश्वासन दिया कि इसकी जाँच करायेंगे और शिकायत सही होने पर मैनेजर के खिलाफ एक सप्ताह के अंदर कार्यवाही होगी।


शिकायतों के लिए दूर दराज से आए लोगों ने कोटेदारों की शिकायत की इस पर मंत्री ने लिखित शिकायत ली और कहा कि जिलाधिकारी से वार्ता करके उनका निस्तारण करायेंगे। कलान से आए लोगों ने मंत्री से गुहार लगाई उनके गाँवों में विद्युतीकरण करायी जाए। मंत्री ने मौके पर ही जिला विद्युत अभियन्ता अरविन्द कुमार को बुलाया और निर्देश दिया कि कलान ब्लाक के इन दोंनो गाँवों में एक महीने के अंदर विद्युतीकरण कराकेे अवगत कराये। इस अवसर पर प्रदेश कार्य समिति सदस्य सत्यभान सिंह भदौरिया, पूर्व जिलाध्यक्ष बाबूराम गुप्ता, नीरज पाठक, शान्ति प्रकाश अवस्थी, सत्यपाल सिंह चौहान, सुबोध मिश्रा, लवली दीक्षित, पंकेश मिश्रा, सुधीर गुप्ता,  अक्षय, आशीष गुप्ता, मंत्री मीडिया प्रभारी राम बरन सिंह आदि लोग उपस्थित रहे।
केन्द्रीय मंत्री से की बैंक मैनेजर की शिकायत -  
क्षेत्र के ग्राम विचौला निवासी रमाकांत पुत्र अवधेश ने दिए शिकायत पत्र मे बताया कि उसकी साईकिल रिपेरिंग की दुकान है। दुकान को और ज्यादा बडाने के लिए उसने बैंक आॅफ बडौदा की शाखा इस्लामगंज मे प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत आवेदन किया था। कुछ दिन बाद बैंक के मैनेजर आशीष रुपल व उनके साथी उसकी दुकान पर जाँच करने के लिए गऐ। रमाकांत के मुताबिक उसकी दुकान पर बैठने की व्यवस्था नहीं थी इसलिए वहाँ सामने की दुकान पर ले गया। जाँच करने के बाद मैनेजर ने 50 हजार रुपये के लोन के लिए रमाकांत से 10 हजार रुपये की रिश्वत मागी। साथ हि 100 रुपये के दो स्टाम्प व 10 रुपये का एक स्टाम्प माँगा। 18 फरवरी 2017 को जब वह स्टाम्प लेकर पहुँचा तो वही दस हजार रुपये की माँग पहले आ गई। जो रमाकांत ने देने से इनकार कर दिया।

मैनेजर के लोन न करने की बात को सुनकर उसके साथ बैंक गऐ अजय त्रिवेदी ने उसी समय एस डीएम जलालाबाद को फोन पर पूरी घटना बताई। एस डीएम जलालाबाद ने बैंक मैनेजर के खिलाफ़ रिपोर्ट लिखाने के लिए बताया। रमाकांत बताते है। कि 18 फरवरी को अल्हागंज थाने मे रिपोर्ट भी  लिखाने गया। लेकिन रिपोर्ट न लिखकर उससे समझौता हस्ताक्षर करवा लिए गऐ। और उसे भगा दिया गया। 8 अप्रैल को क्षेत्र भ्रमण पर आई केन्द्रीय मंत्री के सामने पीढित रमाकांत तथा उनके साथियों ने हाथ मे काली पट्टी बांधकर कर विरोध प्रदर्शन किया। केन्द्रीय मंत्री ने उनको जनता दरबार मे आने को कहा था। रविवार को पीढित रमाकांत व उनके साथी जनता दरबार मे पहुँच कर बैंक मैनेजर के खिलाफ़ घूस माँगने की शिकायत की। जिस पर मंत्री ने रमाकान्त को आश्वासन दिया है। कि इसकी जाँच करायेंगे और शिकायत सही होने पर मैनेजर के खिलाफ एक सप्ताह के अंदर कार्यवाही होगी।

विदित हो कि सूत्रों के अनुसार इससे पहले भी कई लोगों से घूस माँगी जा चुकी है। जिसमें एक व्यक्ति ने नाम न छापने पर बताया कि उसने तीन माह पूर्व इस्लामगंज की शाखा से 50 हजार रुपये का   मुद्रा लोन लिया था । मैनेजर ने 50 हजार का लोन तो दिया। पर उसे 30 हजार रुपये हि  दिए थे  बाक़ी 20 रुपये का उससे ज़बर्दस्ती एफडी करवा ली थी। इस घटना की जानकारी लेने इस्लामगंज की शाखा पहुँचे पत्रकारों को कोई भी जानकारी देने से मैनेजर ने मना कर दिया था।

Special News

Health News

Important News

International


Created By :- KT Vision