Latest News

शनिवार, 1 अप्रैल 2017

शाहजहांपुर - जिला पूर्ति कार्यालय में दलालों का बोलबाला

शाहजहांपुर 01 अप्रैल 2017 (अमित कुमार). शाहजहांपुर का जिला पूर्ति कार्यालय इन दिनों दलालों का प्रमुख अड्डा बन गया है। आरोपों के अनुसार पूर्ति कार्यालय में सबसे ज्यादा भ्रष्टाचार फैला हुआ है। अभी कुछ दिन पहले डीएम ने कार्यालय का औचक निरीक्षण किया था। जिसमें दो लिपिकों को निलंबित भी किया गया था और कुछ लोगों के वेतन काटने के निर्देश भी दिए गये थे, पर अभी भी यहां सुधार दिखाई नहीं पड़ रहा है।


सूत्रों की माने तो पूर्ति कार्यालय में पूर्ति अधिकारी व लिपिकों ने सांठ-गाँठ के लिए विनोद, राकेश शुक्ला, दीपक यादव आदि लोगों को दलाली करने के लिए लगा रखा है। जिसमें विनोद ने अपनी गाड़ी भी डीएसओ को दे रखी है और विनोद की बहन के नाम राशन की दुकान भी है। इसके साथ ही डीएसओ आवास पर दीपक यादव नाम का दलाल रुककर दलाली का कार्य करता है। पूर्ति कार्यालय पर लिपिक अंकुर ने जगमोहन नाम के व्‍यक्ति को दलाली के काम के लिए लगा रखा है। लिपिक राजकुमार ने रिंकू नाम के व्‍यक्ति को लगा रखा है। लिपिक शाहिद अली ने राकेश गुप्ता नाम के व्‍यक्ति को लगाया हुआ है। यह सब दलाल कार्यालय में सरकारी कार्य भी करते हुए देखे जाते हैं, जिससे गोपनीयता भी भंग होने का डर बना रहता है। 

आरोप है कि यह दलाल कार्यालय में आई शिकायतों को कोटेदारों तक पहुंचा कर उनसे वसूली करते हैं। जिसका हिस्सा ये अपने मातहतों को पहुंचाते हैं। अगर प्रशासन इन दलालों की मोबाईल कॉल डिटेल व लोकेशन निकलवाये तो सब सच्चाई सामने आ जायेगी। पूर्ति कार्यालय में इन दलालों के बिना कोई कार्य नहीं होता है। विनोद नाम का व्‍यक्ति शहर में गैस सिलेंडरों की भी काला बाजारी में जाना जाता है। यह दलाल राशन की दुकान पर जाकर अपने अपने अधिकारियों के लिए जमकर वसूली करते पाये जाते हैं। पूर्ति कार्यालय में उक्त दलालों के माध्यम से ही कार्य किये जाते हैं। जिससे आम जनता को काफी परेशानी का सामना करना पडता है।

Special News

Health News

Advertisement

Advertisement

Advertisement


Created By :- KT Vision