Latest News

बुधवार, 18 जनवरी 2017

कानपुर रेल हादसा : 142 मौताें की जिम्मेदार पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI

मोतिहारी 17 जनवरी 2016. 20 नवंबर को हुए कानपुर ट्रेन हादसे में आज खुलासा हुआ है कि इस ट्रेन हादसे की जिम्मेदार पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI है। ISI ने ही ट्रैक पर बम रखकर ट्रेन को उड़ाने की साजिश रची और उसे अंजाम तक पहुंचाया। पुलिस ने खुलासा किया है कि बृजकिशोर गिरी नाम के शख्स के जरिए ISI ने तीन तीन लाख रुपये देकर भारत में रेल की पटरियों पर बम प्लांट कराने की साजिश रची जिससे ट्रेन हादसे हों और ज्यादा से ज्यादा लोगों की मौत हो।

ये जानकारी बिहार के मोतिहारी से आई है। असल में यहां के दो लड़कों अरुण राम और दीपक राम का नेपाल में मर्डर हुआ था। पुलिस को इस मामले की तहकीकत के दौरान जो पता चला उससे पुलिस भी चौंक गई। पुलिस ने अरूण राम और दीपक राम की हत्या के मामले में तीन क्रिमिनल्स उमाशंकर पटेल, मुकेश यादव और मोती पासवान को अरेस्ट किया। इनसे पूछताछ की गई तो पता चला कि अरूण राम और दीपक राम को इसलिए मारा गया क्योंकि वो पटरी पर बम रखकर ट्रेन उड़ाने के टास्क को अंजाम तक नहीं पहुंचा पाए थे। 

घोड़ासहन में रेल ट्रैक पर बम प्लांट करने में ये दोनों फेल रहे थे। घोड़ासहन रेल ट्रैक ब्लास्ट करने के लिए ISI ने तीन लाख रुपये दिए थे। वक्त रहते पुलिस ने पटरी पर रखे बम को निष्क्रिय कर दिया था इसके बाद अरूण राम और दीपक राम को नेपाल बुलाया गया और जंगल में उनकी हत्या कर दी गई। पुलिस का दावा है कि कानपुर ट्रेन हादसे में भी मोतीराम पासवान का हाथ था और इसके पीछे भी ISI की साजिश हो सकती है। पुलिस फिलहाल गिरफ्तार किए गए लोगों से पूछताछ कर रही है। अब इस मामले में यूपी एटीएस पूछताछ के लिए मोतिहारी रवाना हो गई है और IB और रॉ की टीम भी जल्द पूछताछ करेगी।


(खबर इण्डिया टीवी)

Special News

Health News

Religion News

Business News

Advertisement


Created By :- KT Vision