Latest News

सोमवार, 9 जनवरी 2017

छत्तीसगढ़ के राजिम में महाकुंभ 10 फरवरी से, मंत्री बृजमोहन ने प्रथम बैठक में दिए दिशा निर्देश

छत्तीसगढ़ 5 जनवरी 2017 (जावेद अख्तर).  राजिम महाकुंभ इसी वर्ष के फरवरी माह मेें दिनांक 10 से 24 तक लगेगा। चूंकि महाकुंभ बारह वर्षों के पश्चात आता है इसीलिए मंत्री बृजमोहन अग्रवाल तैयारी में कोई कोर कसर बाकी नहीं रखना चाहतें हैं। इसकी तैयारी के लिए अभी से शुरूआत कर दी गई है इसी तारतम्य में बुधवार की शाम महोत्सव स्थल में धर्मस्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल की मौजूदगी में पहली बैठक हुई।

मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने बैठक में मौजूद विभागों के उच्चाधिकारियों से कहा कि 18 से 24 फरवरी हमारे लिए अहम रहेगा। क्योंकि इसी समय से संत समागम प्रारंभ होगा। साथ ही देशभर के सभी अखाड़ा शामिल होंगे। देश में होने वाले 4 कुंभ में राजिम कुंभ जो अब इस साल से राजिम कुंभ कल्प कहा जाएगा।

मंत्री बृजमोहन ने दिए दिशा निर्देश - 
मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि ब्रम्हलीन संत पवन दीवान इस साल पहली बार उपलब्ध नहीं हैं लेकिन उनका आशीर्वाद हम सबके साथ है जो महाकुंभ के आयोजन को सफल बनाएगा। संत दीवान को श्रद्धांजली देने इस साल प्रख्यात कथावाचक रमेश भाई ओझा की राम कथा 14 से 22 फरवरी तक चलेगी। जिसमें रोजाना 15 से 20 हजार श्रद्धालू शामिल होंगे। 10 फरवरी को सुधांशु महाराज आएंगे। सभी अखाड़ा दलों के प्रमुख संत अवधेशानत के आदेश पर कुंभ के साथ कल्प जोड़ा गया है। वे भी 19 फरवरी को आएंगे। इसके अलावा 18 व 19 को सतपाल महाराज का आगमन होगा। साथ ही नित्यानंद स्वामी का पंडाल पूरे 14 दिनों के लिए लगेगा। 17 व 18 को वहां स्वयं मौजूद रहेंगे। साधु संतो के रुकने की व्यवस्था उचित ढंग से हो क्योंकि 5 हजार से अधिक साधु संतों का आगमन होगा। उन्होंने कहा कि गंगा घाट का निर्माण बेहतर ढंग से हो। गंगा आरती में हजारों की संख्या में भीड़ रहती है। यहां पर माता कौशिल्या व गंगा मइया की मूर्ति रखे।

नदी में बनेगी सीमेंट की सड़क -
मंत्री बृजमोहन ने बताया कि लक्ष्मण झूला के लिए 25 करोड़ स्वीकृत हो गया है। मंत्री ने कहा कि आने वाले साल से नदी में सीमेंट की सड़क बनाई जाएगी जो परमानेंट रहेगी। इसके लिए भी 25 करोड़ रुपए की राशि स्वीकृत हो गया है।

30 जनवरी तक पूरा होना चाहिए काम -
इस साल 12 वर्ष पूर्ण होने पर महाकुंभ की व्यवस्था बनाने में सारे अधिकारी भरपूर ताकत लगाकर काम करें। साफ-साफ कहा कि मेले के लिए जो जिम्मेदारी मिली है, उसे पूरी ईमानदारी के साथ 30 जनवरी तक हर हाल में पूरी कर लें। खासतौर से सड़क, बिजली, पानी और खाद्य के कार्यों में किसी भी प्रकार की बहानेबाजी और लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी। मंत्री के निर्देशों पर यहां सभी अफसरों ने हामी भरी। बैठक के दौरान पीएचई, पीडब्ल्यूडी, सिंचाई विभाग, खाद्य विभाग, फारेस्ट, ब्रिज, एरिगेशन, विद्युत, परिवहन, स्वास्थ्य, नगर पंचायत, नगर पालिका, पुलिस विभाग सहित हरेक विभागों के अफसरों से आगामी तैयारी के बारे में जानकारी ली। बारी-बारी से सभी विभाग के अधिकारियों से उनके कार्यों की समीक्षा लेते हुए जानकारी ली।

 
बैठक में प्रभारी मंत्री रामशीला साहू, संत बालक दास, विधायक संतोष उपाध्याय, राघोबा महाडकि, संसदीय सचिव गोवर्धन मांझी, तोखन साहू, अपेक्स बेैंक अध्यक्ष अशोक बजाज, श्वेता शर्मा, विजय गोयल, पवन सोनकर, ओएसडी गिरीश बिस्सा तथा गरियाबंद, रायपुर, धमतरी जिले के कलेक्टर-एसपी मौजूद थे।



Special News

Health News

Religion News

Business News

Advertisement


Created By :- KT Vision