Latest News

शुक्रवार, 9 दिसंबर 2016

सैक्स रैकेट संचालिका के घर पर चोरी - अाखिर मुन्नी के घर में ऐसा क्या रखा था ???

कानपुर 09 दिसम्‍बर 2016 (सूरज वर्मा). बीती 5 दिसम्बर को खलासी लाईन में मुन्नी देवी उर्फ मोना द्वारा पुलिस के संरक्षण में वर्षो से चलाये जा रहे सैक्स रैकेट का भंडाफोड हुआ था। गिरफ्तारी के समय रैकेट संचालिका ने कहा था कि उसकी गिरफ्तारी के बाद उसके यहां चोरी हो सकती है, और हुआ भी वही। आज उक्‍त मुन्‍नी उर्फ मोना के घर में चोरी हो गयी। विचारणीय है कि अाखिर मुन्नी के घर में ऐसा क्या रखा था ???

सूत्रों के अनुसार ग्वालटोली पुलिस ने यह भी जानने की कोशिश नहीं करी कि अाखिर मुन्नी के घर में ऐसा क्या रखा था ? और आखिर 9 दिसम्बर शुक्रवार को रैकेट संचालिका के घर चोरी हो गयी। यदि पहले ही पुलिस ने इस बात को संज्ञान में ले लिया होता तो कई राजों से पर्दा फाश हो सकता था।
              
जानकारी के अनुसार थाना ग्वालटोली के अंतर्गत खलासी लाईन क्षेत्र के मकान नम्बर 10/1सी में पिछले कई सालों से बडे पैमाने पर मुन्नी उर्फ मोना नाम की महिला के द्वारा सैक्स रैकेट का संचालन किया जा रहा था। आरोप है कि  पहले तो ग्वालटोली पुलिस ने मामले को दबाने का प्रयास किया पर मामला खुलने के बाद मजबूरन पुलिस को कार्यवाही करनी पडी। गिरफ्तारी के समय मुन्नी ने कहा था कि उसकी गिरफ्तारी के बाद उसके यहां चोरी हो जायेगी और तब पुलिस ने इस ओर ध्यान नहीं दिया। हुआ भी ठीक वैसा ही, शुक्रवार को रैकेट संचालिका के यहां चोरी हो गयी और चोर ने अलमारी तोड कर कुछ खास निकाल लिया। क्याेंकि पहले से मुन्नी का चोरी के विषय में बताना और चोरी के बाद किसी कीमती चीज का गायब न होना किसी खास राज की ओर इशारा कर रहा है। 

आखिर ऐसी क्या चीज थी जिसकी वजह से चोरी हुई। क्या किसी विशेष अपराध के सबूत उडाये गये। चोरी की सूचना के बाद तत्काल चौकी इंचार्ज खलासी लाइन मौके पर पहुंच और थाने को सूचना दी। मौके पर थाने में तैनात दरोगा राकेश पाण्डेय ने कहा कि हो सकता है कि कोई युवतियों से या फिसी खास से सम्बन्धित एलबम आदि या अन्य किसी प्रकार के कागजात या सीडी हो जिसके लिए यह चोरी की गयी है। ग्वालटोली थाने में तैनात दरोगा राकेश पाण्डे, सीओ कर्नलगंज व फॉरेन्सिक टीम मौके पर पहुंची। फिलहाल पूरा मामला एक फिल्मी तरीके से घटा प्रतीत हो रहा है।

दरोगा ने की पत्रकार से की अभद्रता -
स्‍थानीय लोगों का आरोप है कि खलासी लाइन क्षेत्र में सेक्स रैकेट के खुलासे के बाद ग्वालटोली पुलिस ने मामले को दबाने का पूरा प्रयास किया, लेकिन वह कामयाब नहीं हो सकी और शायद इसी की खीज उस समय दिखाई दी जब रैकेट संचालिका के यहां चोरी की सूचना को कवर करने पहुंच एक पत्रकार के साथ दरोगा राकेश पाण्डेय ने अभद्रता कर दी। दरोगा ने पत्रकार के साथ धक्‍का-मुक्‍की करते हुये कहा कि मकान से नीचे उतरो जब वह लोग चले जाये तो पूछताछ करना और फोटो खींचना। उनके इस प्रकार के व्यवहार से यह शक गहरा होता है कि कमरे में कोई ऐसी वस्तु जरूर थी जिसे राकेश पाण्डे छिपाने की कोशिश कर रहे थे। फिलहाल ग्वालटोली एसओ ने कहा है कि मामले की जांच की जा रही है और जो भी परिणाम निकलेगा उसकी स्पष्ट जानकारी दी जायेगी।

Special News

Health News

Advertisement

Advertisement

Advertisement


Created By :- KT Vision