Latest News

शनिवार, 3 दिसंबर 2016

नोटबंदी : पीएम मोदी ने कहा, ज्यादा कैश भ्रष्टाचार और काले धन का स्रोत

नई दिल्ली 03 दिसम्बर 2016 (IMNB). प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के लोगों से कैशलेस ट्रांजेक्शन की ओर राह पकड़ने की अपील की है। उन्होंने 500 रुपये और 1000 रुपये के नोटबंदी के संदर्भ में कहा कि अर्थव्यवस्था में ज्यादा कैश को भ्रष्टाचार और काले धन का बड़ा स्रोत है। पीएम मोदी ने linkedin.com पर पोस्ट किए गए एक लेख में लिखा है, 21वीं सदी के भारत में भ्रष्टाचार के लिए कोई जगह नहीं है।

कैशलेस ट्रांजेक्शन पर जोर -
प्रधानमंत्री ने कहा मैं आप सबसे, खास कर अपने युवा मित्रों से नकदी रहित लेनदेन की ओर बदलाव करने और दूसरों को भी इसके लिए प्रेरित करने का अनुरोध करता हूं। इससे एक ऐसे भारत की मजबूत नींव तैयार होगी जहां भ्रष्टाचार और काले धन के लिए कोई जगह नहीं होगी। प्रधानमंत्री मोदी ने लेख में आगे कहा है आज हम मोबाइल बैंकिंग और मोबाइल वालेट के दौर में रह रहे हैं। खाने का ऑर्डर देना हो, फर्नीचर खरीदना और बेचना हो, टैक्सी के लिए ऑर्डर देना हो यह सब कुछ आपके मोबाइल के माध्यम से संभव है। प्रौद्योगिकी हमारे जीवन में गति और सुविधा ले कर आई है। मोदी ने कहा कि आठ नवंबर को किए गए फैसले ने भारत के आर्थिक बदलाव में केंद्रीय भूमिका रखने वाले छोटे व्यापारियों को एक दुर्लभ अवसर दिया है। उन्होंने कहा आज, हमारे व्यापारी समुदाय के पास खुद को अद्यतन करने तथा और अधिक प्रौद्योगिकी अपनाने का ऐतिहासिक अवसर है जो उनके लिए अधिक समृद्धि लाएगा।

कुछ समय के लिए लोग तकलीफ बर्दाश्त करें -
प्रधानमंत्री ने कहा कि जब उन्होंने नोटबंदी की घोषणा की, तब वह जानते थे कि भारतवासियों को असुविधा होगी लेकिन मैंने भारतवासियों से अनुरोध किया कि दीर्घकालिक फायदे के लिए वह कुछ समय की तकलीफ को बर्दाश्त करें। उन्होंने कहा, "मैं यह देख कर खुश हूं कि देशवासी दीर्घकालिक फायदे के लिए वह कुछ समय की तकलीफ को बर्दाश्त कर रहे हैं। मोदी ने कहा कि पिछले कुछ दिनों में उन्हें उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, गोवा और पंजाब के ग्रामीण तथा शहरी इलाकों का दौरा करने का अवसर मिला। मैं जहां भी गया, मैंने लोगों से पूछा, क्या भ्रष्टाचार और काले धन को खत्म किया जाना चाहिए क्या गरीबों, नव-मध्यम वर्ग तथा मध्यम वर्ग को उनका हक मिलना चाहिए हर जगह मुझे एक ही जवाब मिला और वह जवाब था हां।"

Special News

Health News

International


Created By :- KT Vision