Latest News

शनिवार, 8 अक्तूबर 2016

IAF चीफ बोले, किसी भी खतरे और चुनौती से निपटने को तैयार है वायुसेना

नई दिल्ली, 08 अक्टूबर 2016 (IMNB). आज वायुसेना दिवस है। भारतीय वायुसेना आज 84 साल की हो गई। इस मौके पर गाजियाबाद के हिंडन एयरबेस पर परेड के साथ साथ लड़ाकू विमान, मालवाहक विमान और हेलीकॉप्टर ने फ्लाइ पास्ट में हिस्सा लिया। फ्लाई-पास्ट में पहली बार स्वदेशी लड़ाकू विमान तेजस को भी शामिल किया गया।

वायु सेना दिवस पर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जवानों को बधाई दी। गाजियाबाद में हिंडन एयर बेस वायु सेना दिवस के कार्यक्रम के दौरान वायु सेना प्रमुख अरूप राहा भी पहुंचे। उन्होंने परेड का निरीक्षण किया। इस दौरान अपने जवानों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि हाल में सेना पर हुए हमले इस बात की ओर इशारा करते हैं कि हम कितने मुश्किल समय में जी रहे हैं। उन्होंने कहा कि अगले कुछ सालों में 36 राफेल विमानों के मिलने से निकट भविष्य में हमारे परिचालन क्षमता में वृद्धि होगी। कार्यक्रम में थल सेना प्रमुख जनरल दलबीर सिंह सुहाग भी पहुंचे थे। 

दिल्ली से सटे गाजियाबाद के हिंडन एयरबेस में कार्यक्रम की शुरुआत आकाश गंगा की टीम ने 2000 फीट की ऊंचाई से पैराशूट से कार्यक्रम स्थल पर उतर कर की। आकाश गंगा की टीम का नेतृत्व वायुसैनिक गजानन यादव ने की। इन्होंने हवा में अनेक तरह के हवाई करतब दिखाकर जनता की वाहवाही लूटी। इसके बाद वायु सैनिकों ने सुंदर मार्च पास्ट किया। इस मौके पर निशान टोली की खूबसूरती देखते ही बनती थी। एयर वारियर रायफल टीम ने उत्कृष्ट प्रदर्शन किया। वायुसेना के लड़ाकू विमानों ने हवा में करतब दिखाये। हवा में करतब दिखाने वाले विमानों में हरकुलिस सी 13ए, मिग 29, सुखोई, सी 17 ग्लोव मास्टर, जगुआर तथा सारंग थे। दो साल बाद हवाई परेड में शामिल हुआ सारंग ने सबके दिल जीत लिए। वायुसेना के सबसे पुराने विमानों से लेकर दुनिया के सबसे आधुनिक फाइटर एयरक्राफ्ट में से एक सुखोई आसमान में अपनी ताकत का लोहा दिखाय। पहली बार फ्लाई-पास्ट में स्वदेशी लड़ाकू विमान तेजस ने भी शिरकत किया।

Special News

Health News

Advertisement


Political News

Crime News

Kanpur News


Created By :- KT Vision